पटना (विसंके). विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली के मंगोलपुरी में रिंकू शर्मा की जिस प्रकार जिहादियों द्वारा निर्मम हत्या की गई, वह घोर निंदनीय और दुर्भाग्यपूर्ण है. कुछ मुस्लिम परिवार उसके घर में घुसे, कुछ महिलाओं ने हाथ पैर पकड़े और कुछ ने उन्हें चाकू से गोद दिया. क्या कसूर था उसका? सिर्फ यही ना कि वह निधि समर्पण के कार्यक्रम कर रहा था? राम मंदिर के निर्माण के लिए धन संग्रह कर रहा था?

उन्होंने कहा कि इस प्रकार का निर्मम हत्या कांड किसी भी सभ्य समाज का परिचायक नहीं हो सकता. गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और उसके बाद अब दिल्ली में जिस प्रकार की हिंसक प्रतिक्रिया निधि समर्पण कार्यक्रम के दौरान दिखाई दे रही है, राम विरोधी सेकुलर बिरादरी और कुछ मुस्लिम नेता वैमनस्य पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, रिंकू की हत्या उसी जहर का परिणाम है जो जिहादियों के मस्तिष्क में भर चुका है. दुर्भाग्यजनक है कि किसी भी मुस्लिम नेता या सेकुलर नेता ने इस निर्मम हत्या कांड की आलोचना नहीं की और ना ही प्रशासन पर दबाव डाला है कि वह इन अपराधियों को पकड़ कर कठोरतम सजा दे. दिल्ली के मुख्यमंत्री अभी तक उस परिवार के लिए संवेदना भी व्यक्त करने नहीं जा सके. हिंदू समाज इस परिस्थिति को किसी हालत में स्वीकार नहीं कर सकता. हम प्रशासन को चेतावनी देते हैं कि वह अविलंब सभी हत्यारों की गिरफ्तारी करे. उन्हें कठोरतम सजा दिलाने की व्यवस्था करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.