पटना (विसंके)। आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, पटना महानगर के द्वारा बीएन कॉलेज से कारगिल चौक तक बहन लावण्या के न्याय की मांग को लेकर न्याय मार्च का अयोजन किया गया। यह न्याय मार्च तमिलनाडु में ईसाई मिशनरियों के प्रताड़ना से त्रस्त होकर आत्महत्या कराने वाली छात्रा लावण्या को न्याय दिलाने के उद्देश्य से आयोजित किया गया। यह मार्च कारगिल चौक पर एक सभा में परिवर्तित हो गया।

अभाविप बिहार के प्रदेश सह मंत्री नितीश कुमार ने संबोधित करते हुए कहा की, तमिलनाडु की स्टालिन सरकार धर्मांतरण गैंग को संरक्षण दे रही है और शांतिपूर्ण रुप से विरोध करने वाली abvp की राष्ट्रिय महामंत्री निधि त्रिपाठी को गिरफ्तार करना पूरी तरह से अन्याय है।

प्रदेश कार्यकारणी सदस्य राजा रवि ने कहा की चाहे कितनी भी अन्याय और तुष्टीकरण की राजनीति की जाय, पर एबीवीपी के कार्यकर्त्ता लावण्या को न्याय दिलाने के लिए सड़क से संदन तक आंदोलन करेंगे। वरुण कुमार ने भारतीए संस्कृति पर हो रहे हमलों पर चिंता जताई।

न्याय मार्च में शामिल अभाविप पटना महानगर के छात्र कार्यकर्त्ता.

जिला संयोजक अभिनव कुमार पाण्डेय ने कहा की तंत्र द्वारा पोषित शैक्षणिक व्यवस्था में सक्रिय क्रिश्चियन मिशनरियों को अब आंदोलन के माध्यम से रोकना होगा। वहीं प्रदेश सह छात्रा प्रमुख समृध्दि सिंह राठौर ने कहा कि बहन लावण्या के न्याय की मांग कर रहे राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी सहित कुछ कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर 14 दिनों के न्यायायिक हिरासत में लेकर भेज देना स्टालिन सरकार की नाकामियों को दर्शाति है। यह निक्कमी सरकार अपने सत्ता के नशे में चूर होकर जो लावण्या की आवाज को कुचलने का प्रयास कर रही है ऐसे मंसूबे को अभाविप कभी सफल होने नहीं देगी। आज अभाविप इस आवाज को बुलंद करते हुए कश्मीर से कन्याकुमारी, दिल्ली से कोलकाता, बेंगलूर से चेन्नई महाराष्ट्र से राजस्थान, बिहार से उड़ीसा सभी राज्यों में आंदोलन लगातार चलाकर न्याय की मांग की जा रही है ओर स्टालिन सरकार की नियत को भी उजागर किया जा रहा है।

मौके पर राज्य विश्वविद्यालय कार्य प्रमुख सुधांशु भूषण झा, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अभिनव शर्मा, विश्वविद्यालय संयोजक शशि कुमार, प्रदेश शोध कार्य सह  प्रमुख सुमित सिंह, रौशन शर्मा, रविकरण, ज्ञानकुंज विभूति, हर्षवर्धन, सुभम वत्स, प्रभात कुमार, कृष कुमार सहित दर्जनों छात्र कार्यकर्ता शामिल थे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *