नालंदा, 27 अगस्त। विश्व संवाद केंद्र द्वारा जिला सूचना जनसंपर्क कार्यालय, बिहारशरीफ के सभागार में सात दिवसीय पत्रकार प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ। यह वर्ग 27 अगस्त से प्रारंभ होकर 3 सितंबर तक चलेगा।
कार्यक्रम का उद्घाटन हिंदुस्तान समाचार पत्र के उपसंपादक सह बिहारशरीफ के ब्यूरो प्रमुख आशुतोष कुमार आर्य एवं प्रख्यात समाजसेवी डॉ प्रोफेसर जीतेंद्र कुमार सिंह द्वारा संयुक्त रुप से किया गया।
इस अवसर पर ब्रह्मांड के प्रथम पत्रकार नारद मुनि के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि कर इनके पत्रकारिता जगत में योगदान की विशेष चर्चा की गई।
आशुतोष कुमार आर्य ने कहा कि नारद मुनि की पत्रकारिता सच्चाई और ईमानदारी से प्रेरित थी। देवता से लेकर राक्षस तक, भक्त से लेकर भगवान तक हर घर से समाचार का संकलन एवं वितरण करने का दायित्व को उन्होंने सफलतापूर्वक निर्वहन किया। आज समाचार जगत उन्हीं के बताएं रास्ता का अनुकरण कर रहा है। आज लोकतंत्र में चौथे स्तंभ के रूप में पत्रकारिता स्थापित हुई है।


उद्घाटन भाषण करते हुए डॉ जीतेंद्र कुमार सिंह ने पत्रकारों के कार्य और दायित्व विशेष कर आंचलिक पत्रकारिता के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि आंचलिक पत्रकारिता ही पत्रकारिता जगत का आधार है। आंचलिक पत्रकारों को वेतन भत्ता सुविधा का घोर अभाव है परंतु जिस सक्रियता, कर्मठता, ईमानदारी व वफादारी के साथ संघर्ष के बीच रहकर वे पत्रकारिता करते हैं वह बहुत ही सराहनीय है।
कार्यक्रम के संयोजक और पत्रकार कुमुद रंजन सिंह द्वारा कार्यक्रम का संचालन किया गया। इस अवसर पर पत्रकार कुमुद रंजन सिंह ने छः ककार के महत्व की चर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.