अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा लॉकडाउन तीन व शैक्षणिक समस्यों को लेकर  दरभंगा कार्यालय में एक बैठक आयोजित किया गया।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय प्रमुख विमलेश कुमार ने कहा कि गृह मंत्रालय द्वारा कोरोना के प्रभाव को देखते हुए लॉकडौन तीन की घोषणा की गई है , इस चुनौतीपूर्ण समय के दौरान कई तरह की समस्या देखने को मिल रही है, एक ओर समाज मे लोगों के आर्थिक स्थिति पर प्रभाव पर रह है वहीं दूसरी ओर शैक्षणिक माहौल के साथ एकेडमिक व्यवस्था  शिथिल हो रही है, क्योंकि विश्वविद्यालय क्षेत्रान्तर्गत महाविद्यालयो में वेब पोर्टल के बदले सोशल मीडिया एप्प के माध्यम से ऑनलाइन क्लास के नाम पर विभिन्न महाविद्यालय द्वारा महज खाना पूर्ति किया जा रहा है, सोशल मीडिया के माध्यम से छात्र छात्रा के निजता भी सुरक्षित नही है, वहीं विश्वविद्यालय प्रशासन स्वयं वेब पोर्टल से कक्षा संचालन की बात किया, लेकिन जमीनी हकीकत इससे विपरीत है, विश्वविद्यालय के नियम परिनियम को धत्ता बताकर महाविद्यालययो में कक्षा संचालन सोशल मीडिया एप्प के माध्यम से ही संचालित हो रही है, साथ ही विश्वविद्यालय व महाविद्यालय ऑनलाइन कक्षा संचालन से पूर्व छात्रों को जागरूक नही की जबकि छात्रों का नंबर हर महाविद्यालय व विभाग को उपलब्ध रहती है।

वहीं विश्वविद्यालय संयोजक पिंटू भंडारी ने कहा कि आज का हमारा बैठक कोरोना के दौरान संगठनात्मक गतिविधियों के संचालन व विभागों / महाविद्यालयों में सुचारू रूप से कक्षा संचालन व छात्रों को ऑनलाइन कक्षा से जोड़ने के लिए प्रयास महाविद्यालय व विश्वविद्यालय स्तर से किया जाना चाहिए। महाविद्यालय व विश्वविद्यालय के होस्टलों में फँसे है ऐसे छात्रों को भी विश्वविद्यालय खाद्य सामग्री प्रदान करें यह मांग अभाविप के कार्यकर्ताओं द्वारा किया गया।
वहीं विभाग संगठन मंत्री हेमंत मिश्रा ने कहा कि लॉकडौन के प्रभाव को देखते हुए  किसी भी प्रकार का परीक्षा विश्वविद्यालय द्वारा कोविड के प्रभाव सामान्य होने के उपरांत ही लिया जाए यह मांग अभाविप दरभंगा के कार्यकर्ताओं द्वारा विश्वविद्यालय प्रशासन से है, एवं कोरोना के दौरान अपने कर्तव्यों को निर्वहन करने वाले योध्याओं को मैं अभाविप परिवार के ओर से धन्यवाद देता हूँ।
वहीं इस अवसर पर विभाग संयोजक सुमित सिंह ने कहा कि गृह मंत्रालय द्वारा जारी निर्देश के उपरांत अब लॉकडौन तीन में हम आ गए है, इस लॉकडौन मे हमारी चुनौती भी बढ़ गयी है, आज के बैठक में हमसभी कार्यकर्ताओं का निर्णय हुआ है कि   स्वामी विवेकानंद भंडारगृह का संचालन नियमित रूप से किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.