भारत की शीर्ष अग्रणी व विज्ञान शैक्षणिक जगत के प्रचार-प्रसार हेतु अग्रणी विद्यार्थी विज्ञान मंथन का ओरिएंटेशन कार्यक्रम पटना में सम्पन्न हुआ। सरस्वती विद्या मंदिर, केशव सरस्वती विद्या मंदिर, पटना और सरस्वती विद्या मंदिर, बाढ़ के विद्यार्थियों, शिक्षकों के समक्ष इस कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी साझा की गई। इन तीनों विद्यालयों में आस-पास के अन्य विद्यालयों के शिक्षक उपस्थित थे। विद्यार्थी विज्ञान मंथन की राष्ट्रीय सह-संयोजका मयूरी दत्ता, मेरठ के सह-संयोजक प्रो. राम कुमार एवं दिनेश मिश्रा, अशोक कुमार सिंह, डा. अमित रंजन, मुकेश चौधरी ने विद्यार्थियों को इस राष्ट्रीय परीक्षा की जानकारी देने के साथ वैचारिक संवाद किया।

राष्ट्रीय सह-संयोजका मयूरी दत्ता ने कहा कि यह परीक्षा तीन स्तरों पर आयोजित होगी। पहली परीक्षा स्कूल स्तरीय होगी, जो 24 व 30 नवंबर 2019 को होगी। यह परीक्षा  बहुविकल्पीय प्रश्नों पर आधारित होगी। इसमें 100 प्रश्न पूछे जाएंगे, जिनमें 40% प्रश्न भारतीय वैज्ञानिकों के योगदान व जीवनी पर आधारित होंगे। इसके बाद राष्ट्रीय स्तरीय आयोजन होगा। इसमें एप्लिकेशन ओरिएंटेड मल्टीपल चाँइस प्रश्न प्रयोगात्मक परीक्षा अवलोकन विश्लेषण और परिस्थिति जन्य समस्या को हल करने वाली गतिविधियां शामिल होंगी। इसमें हर कक्षा से टाँप दो बच्चों को चुना जाएगा। इस तरह से बिहार सहित हर राज्य से कुल 12 बच्चों का चयन किया जाएगा। आगे ये बच्चे दो दिवसीय राष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होंगे। इसमे प्रेजेंटेशन, सामूहिक चर्चा, रोल प्ले प्रयोगात्मक परीक्षा, क्रिएटिव आउट ऑफ बाक्स थिंकिंग और लीडरशिप क्वालिटी के आकलन को शामिल किया जाएगा। इस मौके पर विद्यार्थी  विज्ञान परीक्षा के लिए उत्सुक दिखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.