पटना, 25अक्टूबर- सरकार और प्रशासन हमेशा दावा करती है की हिन्दू और मुस्लिम में एकता बनी है। लेकिन कुछ वर्षो से समाज के लोग इस बात से भयभीत है की सरकार द्वारा तुष्टीकरण की नीति लगातार क्यों बढ़ रही है।
पटना जिला प्रशासन ने दुर्गा पूजा समितियों को मुहर्रम के एक दिन पहले ही दुर्गा प्रतिमा को विसर्जन करने का दिशा निर्देश दे दिया। इस दिशा निर्देश पर विश्व हिन्दू परिसद्, दक्षिण बिहार के आधिकारियों ने विरोध प्रकट किया और कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा इसी तरह के दिशा निर्देश को कोलकता उच्च न्यायालय अवैध ठहरा चुकी है। इस आलोक में विश्व हिन्दू परिसद्, दक्षिण बिहार, पटना जिला प्रशासन के इस दिशा निर्देश की वैधता पर सवाल उठता है।
विश्व हिन्दू परिसद्, दक्षिण बिहार की और से कहा गया कि सरकार एक निश्चित वर्ग को खुश करने के लिए हिन्दुओं को अपने मौलिक अधिकर से वंचित कर रही है। हम उन्हें ऐसा नहीं करने देंगे, विजयादशमी जुलूस के दौरान शान्ति सुनिश्चित करना जिला प्रशासन का कर्तव्य है।
उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि अगर भविष्य में विजयदशमी और मुहर्रम एक ही दिन पड़ेगा तो क्या विजयदशमी समाहरोह को रोक दिया जाएगा। विजयदशमी में दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन पर रोक लगाना या अन्य किसी तरह का बाधा पहुँचाना, हिन्दुओं के धार्मिक आस्था को ठेस पहुँचाना है।

By nwoow

Leave a Reply

Your email address will not be published.