भगवान विरसा मुण्डा के जन्म दिन को वनवासी कल्याण आश्रम जनजाति गौरव दिवस के रूप में प्रत्येक वर्ष 15 नवम्बर को मनाता आ रहा है। इस वर्ष जनजाति गौरव दिवस के कार्यक्रम में महामहिम राज्यपाल फागु चैहान ने अपनी उपस्थिति की स्वीकृति प्रदान की है। कार्यक्रम भगवान विरसा मुण्डा की प्रतिमा (सिंचाई भवन के निकट) के परिसर में सम्पन्न होगा। इस अवसर  पर पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.  (डॉ) गुलाबचन्द राम जायसवाल, वरीय चिकित्सक डॉ ए.के. मानव तथा वनवासी  कल्याण आश्रम के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कृपा शंकर सिंह, पटना महानगर सचिव आशुतोष कुमार उपस्थित रहेंगे ।

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष  कृपा शंकर सिंह ने कहा कि वनवासी कल्याण आश्रम भारत के लगभग 1.5 लाख गांवो  में रहने वाले लगभग 13 लाख वनवासी बन्धुओं को विकास की मुख्य धारा में लाने,  उनमें आत्म गौरव  की भावना जगाने तथा उन्हे शिक्षा, चिकित्सा, स्वदेशी रोजगार के लाभों को उपलब्ध करा देश की मुख्यधारा में बराबरी दिलाने के लिए आश्रम 1952 से कार्यरत है।

गत् 67 वर्षों के अथक परिश्रम जिसे 2500 से अधिक ध्येयनिष्ठ कार्यकर्ताओं  ने अपने 20 हजार से अधिक प्रकल्पों के माध्यम से 51 हजार गांवो  तक पंहुच चुके है। इन कार्यों के परिरणामस्वरूप आश्रम के कार्यकर्ता विदेशी इसाई मिशनरियों  की आँखों  में किरकिरी बन गये हैं। धर्मान्तरण के रूप में चलायी जा रही गतिविधियों में अवरोध पैदा हो गया है। वनवासियों में भारत राष्ट्र एवं समाज के प्रति लगाव दिनोंदिन बढ़ते जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.