वनवासी बंधुओं के बीच हमें जाने की जरूरत है. हमारे पास साधन है और उनके पास संस्कृति को संरक्षित रखने का सामर्थ. अगर हम दोनों मिल जाएं तो भारत को परम वैभव तक पहुंचा सकते हैं उक्त बातें वनवासी कल्याण आश्रम के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कृपा प्रसाद ने पटना स्थित विद्या भारती कार्यालय कदम कुआं में वनवासी कल्याण आश्रम बिहार के नगरीय आयाम की एक दिवसीय वार्षिक बैठक में कही.

समापन सत्र में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कृपा प्रसाद ने कहा कि भारत को परम वैभव पर पहुंचाने की जिम्मेवारी अब हमारे ऊपर है. वनवासी हमारी संस्कृति के संरक्षक हैं.  जब तक वनवासी चुपचाप अपने कमरे रहेंगे तब तक भारत की आजादी अक्षुण्ण रहेगीए आदिवासी कभी भी परतंत्र नहीं हुए.

बैठक का उद्घाटन वनवासी कल्याण आश्रम के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कृपा प्रसाद, क्षेत्र कार्यवाह डॉ. मोहन सिंह, क्षेत्र प्रचारक राम नवमी जी, नगरिय आयाम प्रमुख प्रदीप कुमार,  प्रांतीय संगठन विनोद पांडे, महानगर अध्यक्ष रविंद्र प्रियदर्शी  ने दीप प्रज्वलित कर एवं भारत माता तथाकथित वन योगी बालासाहेब देवराज के चित्र पर माल्यार्पण कर किया.

क्षेत्र कार्यवाह डॉ. मोहन सिंह ने बैठक में सम्मिलित हुए कार्यकर्ताओं के प्रश्नों का संतोष जनक समाधान दिया. संचालन प्रदीप ने किया. धन्यवाद ज्ञापन अरविंद खंडेलवाल ने किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.