पटना 26 दिसंबर। वनवासी समाज को भारत से कभी अलग नहीं किया जा सकता है उक्त बातें अखिल भारतीय वनवासी कल्याण आश्रम के उपाध्यक्ष कृपा सिंह ने मुख्य वक्ता के तौर पर वनवासी कल्याण आश्रम के 66वें व वनयोगी बाला साहेब देशपांडे 105वें जयंती पर कहा। साथ ही उन्होंने वनवासी कल्याण आश्रम के उद्देश्य एवं वनवासियों के लिए किये जा रहे कार्यक्रम के से अवगत करवाया।

मुख्य अथिति के तौर पर बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने वनवासी कल्याण आश्रम के बारे में बताते हुए कहा, “आदिवासी सामाज में ईसाई धर्मांतरण को रोकने के लिए वनवासी कल्याण आश्रम की स्थापना हुई है। भारत के 102 करोड़ की जनता में 11 करोड़ जनता आदिवासी है जिन पर ईसाई मिशनरी अपना प्रभुत्व कायम करने में लगी है। बाला साहेब देशपांडे जी योगदान का जिक्र करते हुए उन्होंने वनवासी कल्याण आश्रम के तहत वनवासियों को मुख्यधारा से जोड़ने का कार्य शुरू किया था जो आज सही दिशा में कार्य कर रहा है। धन्यवाद ज्ञापन वनवासी कल्याण आश्रम के पटना प्रान्त के अध्य्क्ष रविंदर प्रियदर्शी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.