किसी भी कार्यक्रम को सफल बनाने में कार्य योजना एवं कार्य के प्रति सतत चिंतन अत्यंत आवश्यक है। कार्यक्रम आदर्श एवं सफल तभी होता है जब हम छोटी-छोटी व्यवस्था का भी ध्यान प्रमुखता से रखते हैं। इसके लिए आपस में अनुभवों का आदान-प्रदान और सक्रियता अति आवश्यक है। उक्त बातें सरस्वती विद्या मंदिर, मुंगेर में प्रांतीय एवं क्षेत्रीय खेलकूद प्रतियोगिता के समीक्षात्मक बैठक में भारती शिक्षा समिति, बिहार के प्रदेश सचिव गोपेश कुमार घोष ने कही। उन्होंने आचार्यों के साथ प्रत्येक विभाग की चर्चा विस्तारपूर्वक की और कार्यक्रम की सफलता के लिए आवश्यक निर्देश भी दिए।

भारती शिक्षा समिति, बिहार के प्रदेश सह सचिव प्रकाश चंद्र जायसवाल ने कहा कि विद्या भारती शारीरिक एवं खेलकूद को केंद्रीय विषय के रूप में रखा है। खेलकूद मनुष्य के जीवन का आवश्यक अंग है। इससे मन प्रसन्न तो रहता ही है साथ ही शारीरिक स्वच्छता भी बनी रहती है। सभी भैया-बहन खेलकूद के प्रति सजग हो और राष्ट्रीय स्तर पर भाग लें इसके लिए आवश्यक है कि इसका अभ्यास पूर्व से हो।  प्रांतीय शारीरिक प्रमुख फणीश्वर नाथ ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि इस प्रतियोगिता में लगभग 800 खिलाड़ियों के भाग लेने की संभावना है।

प्रांतीय खेलकूद प्रतियोगिता दिनांक 26 से 28 सितंबर 2019 एवं क्षेत्रीय खेलकूद प्रतियोगिता 29 सितंबर से 1 अक्टूबर 2019 तक सरस्वती विद्या मंदिर, मुंगेर के आयोजकत्व में जे0 एस0 ए0 ग्राउंड, जमालपुर में संपन्न होगा। इस कार्यक्रम में स्वच्छता एवं साज-सज्जा पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। अतिथि परिचय एवं बैठक का संचालन भोजपुर विभाग के विभाग प्रमुख ब्रह्मदेव प्रसाद ने किया।

बैठक में विद्यालय प्रबंधकारिणी समिति के अध्यक्ष निर्मल कुमार जालान, सह सचिव सरोज कुमारी, पूर्णकालिक कार्यकर्ता रमेश चंद्र द्विवेदी, उपप्रधानाचार्य उज्जवल किशोर सिन्हा, क्षेत्रीय बालिका शिक्षा संयोजिका कीर्ति रश्मि, शारीरिक एवं खेलकूद प्रमुख अनिल कुमार सिंह एवं प्रांतीय सोशल मीडिया प्रमुख संतोष कुमार के साथ समस्त आचार्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.