मंगलवार को गणपत राय सलारपुरिया सरस्वती विद्या मंदिर नरगाकोठी के प्रांगण में प्रधानाचार्य-सह व्यवस्थापक बैठक का उद्घाटन विद्या भारती उत्तर पूर्व क्षेत्र के क्षेत्रीय संगठन मंत्री ख्याली रामजी, भारती शिक्षा समिति बिहार पटना के प्रदेश सह सचिव प्रकाश चन्द्र जायसवाल, लक्ष्मी नारायण डोकानियां एवं प्रधानाचार्य रामजी प्रसाद सिन्हा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया ।

ख्याली रामजी ने बताया कि प्रधानाचार्य विद्यालय में भूमिका निभाने का कार्य करते हैं। अपने ज्ञान से समाज को सही दिशा देने वाला ही गुरु है। प्रधानाचार्य का व्यक्तित्व उच्च कोटि का तथा स्वयं स्वभाव से धैर्यवान विनयशील होना जरूरी है। विद्यालय को उत्तम श्रेष्ठ बनाने के लिए विद्यालय के प्रति समय,वाणी, मन,तन,आत्मा, बुद्धि का समर्पण देना चाहिए।

svm bhagalpur 0111

वही प्रकाश चन्द्र जायसवाल ने बताया कि प्रधानाचार्य विद्या मंदिर की धुरी होता है। शिशु मंदिर/विद्या मंदिर के विकास के लिए समय-समय पर चिन्तन एवं योजना के लिए बैठना होता रहता है। यह बैठक इसी दिशा में एक क़दम है।

आज के बैठक में भागलपुर एवं बाँका जिले के अन्तर्गत चलने वाले सभी शिशु मंदिर एवं विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य एवं समिति के सक्रिय सदस्य, अध्यक्ष, सचिव ने भाग लिया। कार्यक्रम में कुल 46 विद्यालय से लगभग एक सौ प्रधानाचार्य एवं समिति के सक्रिय सदस्य उपस्थित रहे।

इस अवसर पर प्रकाश चन्द्र जायसवाल, बजरंगी प्रसाद, अभय सिंह, वीरेन्द्र कुमार, कमल किशोर सिन्हा, डॉ मधुसूदन झा, रामजी प्रसाद सिन्हा, अजीत पांडे,प्रभाष मिश्र, चन्द्र भूषण सिंह, उपेन्द्र रजक,अजीत कुमार, रंजीत आचार्य,  शशि भूषण मिश्र एवं भागलपुर विभाग के सभी प्रधानाचार्य सह व्यवस्थापक उपस्थित थे। अतिथि परिचय भागलपुर के विभाग प्रमुख बजरंगी प्रसाद ने एवं मंच संचालन प्रवासी कार्यकर्ता वीरेन्द्र कुमार द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.