मुंगेर, 1 नवंबर। जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए अनुशासन में रहना और कठिन परिश्रम आवश्यक हैं। माता-पिता का आदर और सम्मान करना भी जीवन की सफलता को सकारात्मक दिशा प्रदान करता है। उक्त बाते भारती शिक्षा समिति एवं शिशु शिक्षा प्रबंध समिति, बिहार के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित प्रांतीय ज्ञान-विज्ञान मेला के समापन समारोह के अवसर पर मुंगेर के आरक्षी अधीक्षक बाबू राम ने मुख्य अतिथि के रुप में कही।

उन्होंने कहा कि किमती समय को वाट्स ऐप, सोशल मीडिया, फेस बुक आदि में बर्बाद न करें। मोबाईल के दुरुपयोग से बचे। वर्त्तमान पीढ़ी को मोबाइल में गेम खेलने के बजाए मैदान में खेलना चाहिए। जो शरीर के लिए लाभदायक है।
इस मेला में मुंगेर, भागलपुर, पटना, गया, नालंदा, रोहतास, भोजपुर से लगभग 900 भैया-बहनों ने भाग लिया। इस प्रतियोगिता में प्रथम एवं द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले भैया-बहन अब क्षेत्रीय प्रतियोगिता में भाग लेंगे जो दिनांक 02-04 नवम्बर को सरस्वती विद्या मंदिर, मुंगेर में होगा।
भारती शिक्षा समिति के प्रदेश सचिव प्रकाश चन्द्र जायसवाल ने कहा कि विज्ञान मेला में भाग लेने से भैया-बहनों को सीखने, समझने और जानने का अवसर मिलता है। विज्ञान के क्षेत्र में निरंतर प्रयोग से सुखद परिणाम आएंगे जो जीवन के लिए उपयोगी सिद्ध हो सकते हैं।
इस अवसर पर भैया विभास कुमार, रोहित कुमार एवं बहन श्वेता ने भी ज्ञान-विज्ञान मेला से मिले अनुभव को भैया-बहनों के समक्ष रखा।

अतिथियों का परिचय एवं स्वागत प्रधानाचार्य नीरज कुमार कौशिक ने किया। आज के मूल्यांकन के विषय में गणित प्रयोग जिसमें घन, घनाव, बेलन इत्यादि का पृष्ठ, क्षेत्रफल, सम्पूर्ण पृष्ठ क्षेत्रफल, आयतन एवं वृत, त्रिभुज, चतुर्भुज तथा बैंक प्रशन प्रपत्र इत्यादि थे। वहीं गणित पत्रवाचन में गणित पाठ्यक्रम में वैदिक गणित की उपयोगिता तथा वेद काल से आर्यभट्ट प्रथम तक भारत में गणित की गौरवशाली परंपरा आदि का मूल्यांकन किया गया वहीं विज्ञान प्रयोग एवं विज्ञान पत्रवाचन का भी मूल्यांकन किया गया।
विभिन्न विषयों के निर्णायक के रुप में नवलेश कुमार, सुमित रंजन, विपिन कुमार झा, सुबोध प्रसाद शर्मा, संजय मिश्रा, सरोज कुमारी, ओम प्रकाश पंडित, कुंज बिहारी, शंभु सिंह, जय शंकर प्रसाद आदि ने महति भूमिका निभाई।
कार्यक्रम का संचालन आचार्य अरुण कुमार ने किया वहीं व्यवस्था संबंधी जानकारी कार्यक्रम प्रमुख अनन्त कुमार सिन्हा एवं नरेश कुमार पहुजा ने दिया। ज्ञापन पटना विभाग के विभाग प्रमुख वीरेन्द्र कुमार ने किया।
इस अवसर पर पूर्णकालिक कार्यकर्ता रमेष चंद्र द्विवेदी, रामलाल सिंह, वीरेन्द्र कुमार सिंह, राजेष रंजन, अभय कुमार सिंह, मथुरानाथ पांडेय, राकेश नारायण अम्बश्ठ, किशोरी पंडित, डा0 वीरेन्द्र कुमार के साथ प्रांत के सह विज्ञान प्रमुख सुशील कुमार, संगणक के प्रांत प्रमुख जय भारती वर्मा, सहप्रमुख विनोद कुमार सिंह, एवं समस्त प्रधानाचार्य सहित विभिन्न विद्यालय से आए भैया-बहन एवं संरक्षक आचार्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.