मंगलवार को गणपत राय सलारपुरिया सरस्वती विद्या मंदिर नरगाकोठी के प्रांगण में (+2)उच्च माध्यमिक स्तरीय के छात्र-छात्राओं द्वारा वृक्षारोपण का कार्यक्रम किया गया।

इस मौके पर विद्यालय के प्रधानाचार्य रामजी प्रसाद सिन्हा ने कहा कि जल प्रदूषण, वायु प्रदूषण, भूमि प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण में निरंतर वृद्धि हो रही है। यदि इस पर नियंत्रण नहीं किया गया तो परिणाम अत्यंत भयानक होगा। वृक्षारोपण कार्यक्रम पर्यावरण को संतुलित कर मानव के अस्तित्व की रक्षा करने के लिए आवश्यक है। मौसम में अचानक परिवर्तन, फसल चक्र का परिवर्तन होना, वनस्पतियों की प्रजातियों का लुप्त होना, तापमान में वृद्धि, हिमनदों का पिघलना, तथा समुद्री जलस्तर में लगातार वृद्धि ऐसे सूचक हैं जिनसे पर्यावरण प्रभावित होता है। पर्यावरण संतुलन एवं मानव की वास्तविक प्रगति के लिए वृक्षारोपण आवश्यक है।

विद्यालय के उपाध्यक्ष डॉ मधुसूदन झा ने कहा कि वृक्षारोपण पर्यावरण के लिए अच्छा है क्योंकि इसके बिना पृथ्वी पर जीवित प्राणियों का अस्तित्व संभव नहीं है। पेड़ बहुत सारे लाभ प्रदान करते हैं और पारिस्थितिक संतुलन बनाए के लिए महत्वपूर्ण है पर हम इन्हें क्रूरता से काटते जा रहे हैं। इस नुकसान की क्षतिपूर्ति करने के लिए वृक्षारोपण आवश्यक है।

इस अवसर पर अशोक मिश्र, अभिमन्यु कुमार, डॉ वेद प्रकाश, सुशील कुमार, विनोद पांडे, अजय कुमार, लीली कुमारी, शशि भूषण मिश्र, शेखर झा,दीपक झा,  बालकृष्ण तिवारी एवं विद्यालय के उच्च माध्यमिक स्तरीय छात्र-छात्रा उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *