भागलपुर, 05 अक्टूबर। पूरनमल बजेरिया शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय, नारगाकोठी भागलपुर में दिनांक 15 सितम्बर से 04 अक्टूबर तक चलने वाले 20 दिवसीय नवीन आचार्य प्रशिक्षण वर्ग का विद्या भारती द्वारा आयोजित किया गया था. बीस दिनों तक चलने वाले उस आचार्य प्रशिक्षण वर्ग में विद्या भारती द्वारा संचालित स्कूल के आचार्य का कुशल पठन-पाठन एवं शिक्षण शैली का अभ्यास कराया गया. आचार्य प्रशिक्षण के प्राचार्य रामलाल सिंह की देख रेख में संचालित किया गया.
इस मौके पर मुख्य अतिथि आयुर्वेद महाविद्यालय भागलपुर के प्राचार्य चंद्रभूषण सिंह ने कहा कि किसी भी शिक्षक के लिए चरित्र निर्माण की प्राथमिकता सर्वोपरि है.

वही मौके पर भारती शिक्षा समिति के सह-सचिव प्रकाश चन्द्र जायसवाल ने कहा कि गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा पर विशेष बल देने के लिए शिक्षक को प्रयास करना चाहिए.
मौके पर मौजूद महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. अजीत कुमार पाण्डेय ने शिक्षक को शिक्षक के गुणों का आत्मसात करने के लिए प्रेरित किया.
कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन भागलपुर विभाग के विभाग प्रमुख बजरंगी प्रसाद ने किया.
इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापक राजकुमार ठाकुर, डॉ. गौरी शंकर मिश्रा, सरिता कुमारी, हरेन्द्रनाथ पाण्डेय, अवनीश सिंह, पप्पू पाल, राकेश पाल, अमृता मंडल सहित कई लोग उपस्थित थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.