वरिष्ठ माध्यमिक सरस्वती विद्या मंदिर, मुंगेर में बुधवार को आचार्य लल्लन महाराज की सेवा-निवृति पर सम्मान समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर विद्यालय प्रबंधकारिणी समिति के अध्यक्ष निर्मल कुमार जालान ने कहा कि लल्लन महाराज ने विद्यालय के कार्य को निष्ठापूर्वक निभाया। इनके व्यवस्थित कार्यों की प्रशंसा सर्वत्र होती है। उन्होंने कहा कि व्यक्ति अगर मन, बुद्धि और तन से स्वस्थ हो तो उसे अपने ऊर्जा और क्षमता का प्रयोग जीवन पर्यन्त करना चाहिए। अब उन्हें सामाजिक कार्य में भी योगदान देने का समय मिलेगा।

अपने अनुभव कथन में आचार्य लल्लन महाराज ने कहा कि ईमानदारी से कार्य करने वाले को ईष्वर भी मदद करते हैं। कार्य अच्छा करने पर आत्मिक संतोष मिलता है। माता-पिता की सेवा सबसे बड़ा धर्म है। विद्यालय एक परिवार है और जहां टीम वर्क होता है, वहां किसी भी कार्य को आसानी से किया जा सकता है। कार्य को यथा शीघ्र निष्पादन करना चाहिए। इससे आगे के कार्य करने में सुविधा होती है। कमजोर बच्चों को योग्य बनाना आचार्य की प्राथमिकता होनी चाहिए। उन्होंने विद्यालय से जुड़ी कई प्रेरक-प्रसंग भी सुनाए।

svm munger 01

इसके पूर्व आचार्य चन्द्रप्रकाष झा ने लल्लन महाराज के परिचय वृत रखा साथ ही। आचार्य मुकेष कुमार सिन्हा ने शुभकामना संदेष पढ़कर सुनाया।

धन्यवाद ज्ञापन करते हुए प्रधानाचार्य नीरज कुमार कौषिक ने कहा कि लल्लन महाराज को अपने आचार विचार एवं कुषल नेतृत्व के लिए सर्वत्र सराहना मिली। सारी व्यवस्था सुचारु रुप से चले इसका चिंतन हमेषा करते रहे। विद्यालय प्रबंधकारिणी समिति के अध्यक्ष निर्मल कुमार जालान द्वारा आचार्य लल्लन महाराज को पुष्पगुच्छ एवं उपहार भेंट किया गया। प्राथमिक खंड के प्रभारी प्रधानाचार्य अविनाष कुमार ने किया वहीं कार्यक्रम का संचालन आचार्य अरुण कुमार द्वारा किया गया। इस अवसर पर उपप्रधानाचार्य उज्ज्वल किषोर सिन्हा, क्षेत्रीय बालिका षिक्षा संयोजिका कीर्ति रष्मि, प्रांतीय मीडिया प्रमुख संतोष कुमार सहित विद्यालय के समस्त आचार्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.