[button color=”” size=”” type=”3d” target=”” link=””]तीन दिवसीय प्रांतीय शिक्षक प्रशिक्षक कार्यशाला का उप मुख्यमंत्री ने किया उद्घाटन[/button]

पटना (विसंके) नगर के केशवपुरम मर्ची रोड स्थित केशव सरस्वती विद्या मंदिर परिसर के प्रांगण में शिशु शिक्षा प्रबंध समिति बिहार के तत्वावधान में राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 के सफल क्रियान्वयन के लिए त्रि-दिवसीय प्रांतीय शिक्षक प्रशिक्षक कार्यशाला का उद्घाटन बिहार प्रांत के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने दीप प्रज्जवलित कर किया।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि शिक्षा पर भारत के सकल घरेलू उत्पाद का छ: प्रतिशत प्रतिशत खर्च किया जाएगा। देश में अंग्रेजी शासन के दौरान मैकाले नीति द्वारा शिक्षा को मानसिक गुलाम बनाने की नीति एवं आक्रांतओं के इतिहास का महिमा मंडन की आलोचना की। कहा कि ऐसी शिक्षा पर बल देना जरूरी है, जो भारत को एक सशक्त, समर्थ और सम्मपन्न देश बना सके। साथ ही भारतवासियों के मने में देश भक्ति एवं राष्ट्र की भावना को जागृत करे।

इस मौके पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ उततर पूर्व क्षेत्र के क्षेत्र कार्यवाह डॉ. मोहन सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति- 2020 बालक को आत्मनिर्भर बनाएगा। साथ ही शिक्षा रोजगार परक होगी। कोई बेरोजगार नहीं रहेगा। इस कार्य में आचार्यो की भूमिका अह्म होगी। शिशु शिक्षा प्रबंध समिति बिहार के प्रदेश सचिव प्रकाश चंद्र जायसवाल ने उप मुखयमंत्री को अंगवस्त्र एवं पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया। इसके साथ कार्यक्रम की प्रस्तावना को रखते हुए नालंदा एवं विक्रमशिला विश्वविद्यालय के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में प्राचीन भारत के योगदानों की चर्चा की एवं उसी के अनुरूप आज भी शिक्षा व्यवस्था कायम करने की बात कही। केशव सरस्वती विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य मनोज कुमार मिश्र ने मंचासीन अतिथियों का परिचय कराया। सभी महानुभावों का स्वागत करते हुए।

प्रतिभागी आचार्यो को आधुनिक चाणक्य बताया। उन्होंने देश में शिक्षा के माध्यम से परिवर्तन का कारक बनने का आह्वान किया। इस कार्यशाला में शिशु शिक्षा प्रबंध समिति द्वारा संचालित दक्षिण बिहार के सरस्वती विद्या मंदिर के 100 से अधिक आचार्य एवं प्रधानाचार्य राष्ट्रीय शिक्षा नीति के सफल क्रियान्वयन के लिए प्रशिक्षण प्राप्त करने का काम करेंगे। इसके साथ ही सभी संकुल एवं विद्यालय स्तर पर आचार्यगण को प्रशिक्षण देंगे। जिससे विद्यालय स्तर पर ही राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अनुरूप शिक्षण का क्रियान्वयन सुनिश्चित हो सके। कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के क्षेत्र कार्यवाह डॉ. मोहन सिंह ने की। कार्यक्रम का संचालन डॉ. धीरेंद्र झां ने किया। इस मौके पर शिशु शिक्षा प्रबंध समिति प्रदेश सह सचिव प्रदीप कुशवाहा ने सबके प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस दौरान केशव सरस्वती विद्या मंदिर में भैया-बहनों ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत किया। क्षेत्र प्रचारक रामनवमी प्रसाद, प्रांत प्रचारक राणाप्रसाप सिंह विद्या भारती, उत्तर -पूर्व के क्षेत्रीय सह सचिव नकुल शर्मा, विभाग निरीक्षक उमाशंकर पोद्दार, पूर्णकालिक कार्यकर्ता सतीश कुमार और मुकुल कुमार उपस्थिति रहे। उक्त जानकारी प्रांत के प्रचार संयोजक राकेश नारायण अंबट ने दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.