किशनगंज,25 अक्टूबर। किशनगंज में बुधवार रात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों द्वारा शरद पूर्णिमा उत्सव मनाया गया। इस उत्सव का आयोजन शहर के धर्मगंज स्थित सरस्वती मंदिर प्रांगण में आयोजित किया गया। जिसमें राष्ट्रीय गीत, बोधिक इत्यादि कार्यक्रम आयोजित हुई। संघ के जिला कार्यवाह देवदास जी ने अपने बोधिक विचार स्वयंसेवकों के सामने रखे।

 

यह मान्यता है कि शरद पूर्णिमा के रात्रि के दौरान चन्द्रमा 16 कलाओं से युक्त होकर अमृत की वर्षा धरती पर करती है। लोग खुले असमान में खीर को रखने के बाद इसका सेवन करते है। वर्षा ऋतु की जरावस्था और शरद ऋतु के बालरूप का यह सुंदर संजोग हर किसी का मन मोह लेता है। स्वयंसेवक के द्वारा शरद पूर्णिमा प्रतेक वर्ष मनाया जाता है। इस सुनहरे पल के आनंद के बाद अमृत मिश्रित खीर का सेवन स्वयंसेवकों  प्रसाद स्वरूप किया गया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में स्वयंसेवक उपस्थित थे।
-सुबोध (किशनगंज)

Leave a Reply

Your email address will not be published.