पटना,16 जनवरी। अखिल भारतीय विधार्थी परिषद् द्वारा “भारत एकात्मता यात्रा” का आयोजन परिषद् के प्रकल्प SEIL (स्टूडेंट एक्सपीरियंस इन इंटर स्टेट लिविंग) द्वारा गत 52 वर्षों से अनवरत आयोजित किया जा रहा है। अन्तर रज्य छात्र जीवन दर्शन (SEIL) कार्यक्रम के तहत पूर्वोत्तर राज्य के 32 छात्र-छात्राओ का दल 19 जनवरी 2018 को पटना पहुंचेगा। “राष्ट्रीय एकात्मता यात्रा” नाम से प्रसिद्ध यात्रा के दौरान पटना में 19, 20, 21 जनवरी को विभिन्न स्थानों पर कई प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा है। यह जानकारी अभाविप ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया।
1966 से प्रारंभ इस प्रकल्प के तहत प्रत्येक वर्ष पूर्वोत्तर के छात्र-छात्राओं को पूरे भारत के विभिन्न हिस्सों में भ्रमण कराया जाता है, वही पूरे भारत के छात्र युवाओं को पूर्वोत्तर भारत के बारे में जानकारी के लिए पूर्वोत्तर भारत के विभिन्न प्रांतों में भ्रमण कराया जाता है।
परिषद् के क्षेत्रीय संघठन मंत्री निखिल रंजन ने चर्चा करते हुए कहा कि पूर्वोत्तर भारत सामरिक महत्व को देखते हुए प्राकृतिक संपदा से भरा है साथ ही देश की रक्षा के लिए भी महत्वपूर्ण है लेकिन विकास की दृष्टि से उपेक्षित इन हिस्सों में अलगाववादी शक्तिया वर्षों से अपने पांव पसार रही हैं। बांग्लादेशी घुसपैठ के माध्यम से जनसंख्या की परिवर्तन सर्वाधिक पूर्वोत्तर राज्यों में हो रहा है इसे रोकने की आवश्यकता हैं।

वही प्रांत संगठन मंत्री अनिल कुमार ने कहा कि अलगाववादी शक्तियां जाली नोटों का तस्करी, अफीम, अवैध हथियार का व्यापार करने के साथ-साथ देश विरोधी शक्तियां पूर्वोत्तर के नौजवान छात्र-छात्राओ  को गुमराह कर गलत कामों में बलपूर्वक उपयोग करना चाहता है साथ ही भारत के विरोध में भड़काता है। पूर्वोत्तर में अखिल भारतीय विधार्थी परिषद् उनके द्वारा किए गए देश विरोधी गतिविधियों को रोकने का कम कर रही हैं और सफलता के नए आयाम भी स्थापित कर रहा हैं।
प्रेस वार्ता में उपस्थित यात्रा संयोजक पप्पू वर्मा ने यात्रा की पूरी जानकारी देते हुए कहा कि पटना में आने वाले पूर्वोत्तर के छात्रों को बिहार की सभ्यता, संस्कृति की जानकारी के लिए पटना के विभिन्न ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थानों का भ्रमण करने के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों से रूबरू कराने की व्यवस्था की गई है।
19 जनवरी को उनके पहुंचने पर परिषद् कार्यकर्ताओं का भव्य स्वागत किया जाएगा। स्वागत के उपरांत उनके रहने की व्यवस्था पटना के 20 मेजबान परिवार में की गई है।

20 जनवरी को 11 बजे पटना साइंस कॉलेज में विश्वविद्यालय के छात्रों के द्वारा पूर्वोत्तर के छात्र-छात्राओं का स्वागत किया जाएगा।

उसी दिन 2  बजे स्थानीय विद्यापति भवन में नागरिक अभिनंदन समारोह का आयोजन किया जाएगा जिसमें मुख्य अतिथि बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी रहेंगे।

21 जनवरी को पटना साहिब गुरुद्वारा में दर्शन का कार्यक्रम के साथ-साथ पूर्वोत्तर के छात्रों के सामने कई संस्थानों में संवाद एवं सहभोज कार्यक्रम का आयोजन भी किया जाएगा।

 

By nwoow

Leave a Reply

Your email address will not be published.