सीवान, 22 नवंबर। विद्या भारती की बिहार प्रांतीय इकाई लोक शिक्षा समिति के द्वारा प्रांत स्तरीय 31 वां वार्षिक समूह खेल प्रतियोगिता सीवान के बरहन गोपाल स्थित महावीरी सरस्वती विद्या मंदिर के परिसर गुरुवार को संपन्न हुआ।
प्रतियोगिता में सम्पूर्ण उत्तर बिहार के कुल 26 विद्यालयों की 37 टीमों ने हिस्सा लिया। जिसमे 540 भैया-बहनों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। शिशु वर्ग बालिका कबड्डी में सरस्वती शिशु मंदिर, बरवत सेना, बेतिया विजेता रहें। जबकि महाविरी सरस्वती बालिका विद्या मंदिर, माधव नगर सीवान ने उपविजेता का खिताब अपने नाम किया। शिशु वर्ग खो-खो बालिका की प्रतियोगिता में सरस्वती शिशु मंदिर, प्रतापटांड़, वैशाली ने प्रांतीय खिताब पर कब्जा किया वहीं सरस्वती शिशु मंदिर बरवत सेना, बेतिया दूसरे स्थान पर रहे। शिशु वर्ग भैया कबड्डी में सरस्वती शिशु मंदिर, बलहा नारायणपुर ने अपने गौरवपूर्ण प्रदर्शन की बदौलत प्रथम स्थान प्रपट किया। जबकि इसी वर्ग एवं विधा में द्वितीय स्थान पर रहे सरस्वती शिशु मंदिर, बलूही।  शिशु वर्ग भैया खो-खो में सरस्वती विद्या मंदिर, किशनगंज ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए प्रथम स्थान प्राप्त किया जबकि थोड़ी सी चूक ने सरस्वती शिशु मंदिर, प्रतापटांड़ को दूसरे स्थान पर धकेल दिया।
समापन सह पुरस्कार वितरण समारोह में अपनी बात रखते हुए लोक शिक्षा समिति, बिहार के  प्रदेश सचिव  नकुल कुमार शर्मा ने कहा कि विद्या भारती का लक्ष्य इन खेलों के माध्यम से राष्ट्रभाव जागृत करना है। सब हमारे एवं हम सबके का भाव ही इस देश के प्राचीन गौरव की पूर्णउत्थान का मूल मंत्र है। ध्वजावतरण भाजपा के जिला उपाध्यक्ष सह विद्यालय कोषाध्यक्ष  राहुल तिवारी ने किया। पुरस्कारों की घोषणा  फणीन्द्र नाथ झा ने किया।  जबकी इस पूरे कार्यक्रम का वृत्त कथन  प्रदीप कुमार कुशवाहा ने किया।
अतिथि परिचय स्थानीय प्रधानाचार्य आशुतोष कुमार मिश्र ने दिया। मंच संचालक अनिल कुमार राम ने किया।  स्थानीय  विद्यालय के प्रबंधकारिणी समिति के सह सचिव  सूर्यज्योति वर्मा के द्वारा विधिवत समापन की घोषणा के साथ ही यह तृदिवासीय कार्यक्रम समाप्त हुआ।
इस  मौके पर  सरोज सिंह, विद्यालय अध्यक्ष, नंदलाल खदरिया, सीवान नगर के उपसभापति बबलू साह, शंभूप्रसाद गुप्ता,  सुनील दत्त शुक्ल,  फणीन्द्र नाथ झा, विभाग निरीक्षक,  प्रदीप कुशवाहा, विभाग निरीक्षक इत्यादि प्रमुख रूप से उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.