समस्तीपुर में कल आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ के कार्यकर्ताओं ने अपनी 9 सूत्री मांगों को लेकर सरकार का विरोध जताया. भारतीय मजदुर संघ के महामंत्री उमा प्रसाद ने कहा कि वर्ष 1975 से आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से समेकित बाल विकाश योजना का संचालन हो रहा है. जिसमे 25 लाख से भी अधिक की संख्या में आंगनबाड़ी कर्मी कार्यरत है. इतने वर्ष बीतने क बाद भी अभी तक आंगनबाड़ी कर्मियों को सरकारी कर्मचारियों का दर्जा प्राप्त नहीं है.

न्यूनतम वेतन की माँग करते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को 18000/-, सहायिका को 9000/- रूपये प्रतिमाह करने की माँग की गयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.