[button color=”” size=”” type=”3d” target=”” link=””]संजीव कुमार[/button]

पूर्णिया प्रमंडल में आपराधिक घटनाएं बढ़ती ही जा रही है। महिला तस्करी, गौ तस्करी, जिहादी तत्वों का नंगा नाच जैसे अपराधों की कई घटनाएं रोज देखने को मिल रही है। दुष्कर्म की घटनाओं के लिए तो यह प्रण्डल कुख्यात हो गया है। 1 सिंतबर को एक महिला का 2 बार सामूहिक दुष्कर्म हुआ। हवस में अंधे जेहादियों ने उनके 13 वर्षीया बेटी को भी नहीं बख्शा।
बिहार के पूर्णिया जिले के कृत्यानंद नगर थाना क्षेत्र के झुनीइस्तम पंचायत के बेगमपुर गांव में 40 वर्षीय महिला एवं उनकी 13 वर्षीय नाबालिग पुत्री के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। घटना एक सितंबर रात की है। चार सितंबर को मामला दर्ज हुआ है। पीड़िता ने गांव के पांच लोगों को नामजद किया है। पुलिस ने एक को गिरफ्तार भी कर लिया है।
पीड़िता ने ग्रामीण कासिम को मुख्य आरोपी बनाया है। नाबालिग पीड़िता ने कहा है कि गांव के मो बिरू, मो ताजीब, मो खुशबू एवं मो तरीकुल ने एक सितंबर की रात 10 बजे घर से उठाया और बांसबाड़ी में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। दरअसल, एक सितंबर की रात पीड़िता के दरवाजे पर ही उसके पुत्र और बहू के विवाह संबंध में विवाद को लेकर पंचायती की जा रही थी।
पीड़ित महिला ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि समधी ने अपनी बेटी को तलाक दिए जाने के बदले तीन लाख रुपये की मांग की। महिला व उनके पति ने समधी से कुछ समय की मोहलत मांगी। इसी से आक्रोशित आरोपियों ने महिला, उसके पति, व पुत्र को बंधक बना लिया। पति और पुत्र को समधी के घर बांध कर रख और उसे मो. कासिम के घर में रखा गया। महिला ने कहा है कि कासिम ने अपने घर में उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद महिला को अजीजुल एवं तैमूर के घर ले जाया गया।
आरोप है कि वहां भी कासिम ने उसके साथ दुष्कर्म किया। उधर, महिला की पुत्री को उठाकर बांसबाड़ी ले जाया गया था। वहां भी जेहादियों ने 13 वर्षीय लड़की का सामूहिक दुष्कर्म किया। सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडे ने बताया कि पीड़ित महिला के आवेदन पर आरोपितों के विरूद्ध पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस की टीम के द्वारा एक आरोपी को गिरफ्तार भी किया गया है। अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सघन छापेमारी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.