पटना/जयपुर (विसंके). प्रचारक एवं संस्कार भारती के अखिल भारतीय महामंत्री अमीर चंद जी 16 अक्तूबर को निधन हो गया था. 21 अक्तूबर को संघ कार्यालय भारती भवन में आयोजित सभा में श्रद्धांजलि दी गई.
श्रद्धांजलि कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय बौद्धिक शिक्षण प्रमुख स्वांत रंजन जी ने कहा कि प्रयागराज कुंभ के दौरान उन्होंने संस्कार भारती की तरफ से एक शिविर का आयोजन कर उसमें पूर्वोत्तर के कलाकारों को बुलाया था, जिसमें अधिकांश कलाकार ईसाई थे. उसमें आने वाले सभी ईसाई कलाकार हिन्दू धार्मिक मान्यताओं में रच बस गए तथा कुंभ मेले में मान्यताओं का पूरी तरह से पालन किया.
अमीर चंद जी ने कला की दृष्टि से गुरुकुल बनाने का प्रयास भी किया तथा गुणवत्ता के साथ विस्तार किया. वे हमेशा तनाव से दूर हंसते मुस्कुराते हुए कार्यकर्ताओं के प्रेरक बनकर रहते थे. साल 1985 में 20 साल की आयु में संघ के प्रचारक बने तथा 56 वर्ष की आयु में बीते दिनों पूर्वोत्तर में देहांत हो गया.
कार्यकर्ताओं ने 2 मिनट का मौन रखकर उनको पुष्पांजलि अर्पित की.

Leave a Reply

Your email address will not be published.