जयपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रेरणा से रविवार को चाकसू के निकट आदर्श ग्राम केशवपुरा में आदर्श ग्राम विकास समिति एवं प्रकृति हित संस्थान जयपुर के संयुक्त तत्वाधान में वृक्षों पर परिंडे (पक्षियों को पानी पीने के लिये बर्तन) बांधने का सेवा कार्य किया गया. इस अवसर पर आदर्श ग्राम केशवपुरा के हर एक परिवार ने वृक्ष पर न केवल परिंडे बांधे, बल्कि हर परिवार ने प्रतिदिन परिंडों में पानी डालने का संकल्प भी लिया.


सांगानेर जिला संघचालक रामकरण शर्मा ने बताया कि जयपुर में 1981 में बाढ़ आई थी. उस दौरान जयपुर और आसपास क्षेत्र में काफी जन धन की हानि हुई. अनेक गांववासियों को पलायन करना पड़ा. गांव में स्थित मकान पानी में डूब गए. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रेरणा से गठित राजस्थान बाढ़ पीड़ित सहायता एवं पुनर्वास समिति जयपुर की ओर से बाढ़ से प्रभावितों को राहत देने के उद्देश्य से केशवपुरा ग्राम का पुनर्निर्माण किया गया. उस दौरान यहां न केवल 64 मकान बनाए गए, बल्कि उनके सामने पौधारोपण भी किया गया. आज वह पौधे वृक्ष का रूप ले चुके हैं. प्रत्येक मकान के आगे वृक्ष है, जिन पर ग्रामीणों ने पक्षियों के लिए परिंडे बांधे और प्रत्येक दिन पानी डालने का संकल्प लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.