पटना, 5 अक्टूबर। बिहार के वरिष्ठ पत्रकार एवं ईटीवी भारत के बिहार ब्यूरो चीफ प्रवीण बागी के पिताजी प्रेम शरण का देहांत कल दोपहर पटना स्थित IGIMS में हो गया था. 85 वर्षीय प्रेम शरण जी बिहार सरकार के उद्योग विभाग के प्रबंधक के पद से सेवा निवृत हुए थे. उन्हें उनके ज्येष्ठ पुत्र प्रमोद शरण ने मुखाग्नि दिया.
बिहार के वरिष्ठ पत्रकार रवि रंजन सिन्हा अपने बीते दिनों को याद करते हुए बताते है कि प्रेम शरण उनके पांच दोस्तों में से एक थे. कॉलेज के दिनों में सभी एक साथ गाँधी मैदान के आसपास चाय की दुकान पर मिला करते थे. उन दिनों उनका रुझान पत्रकारिता की ओर हुआ करता था. सन् 1954-55 के दौर में प्रेम शरण और सभी मित्रों के सहयोग से पाक्षिक पत्रिका ‘कॉलेज संवाद’ का भी प्रकाशन किया गया था. लेकिन यह पत्रिका लगभग छः से सात माह तक ही प्रकाशित हो पाया. कुछ समय बाद प्रेम शरण की नौकरी बिहार सरकार में हो गई.

मूलतः सिवान जिला के विजयपुर के रहने वाले प्रेम शरण जी अपने पीछे तीन बेटों और एक बेटी समेत भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं.
जाते-जाते दुसरों के जीवन को किया प्रकाशित

वरिष्ठ पत्रकार प्रवीण बागी ने मानवता धर्म निभाते हुए अपने पिता के आँखों को नेत्रदान समिति को दान दे दिया. उनके निधन पर विभिन्न पत्रकार संगठनों ने शोक जताया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.