शिक्षक बंधुआ मजदूर नहीं है, शिक्षक को बंधुआ मजदूर समझने वाले उन्हें अपमानित, तिरस्कृत और धमकाने वाले, उनके वेतन में भारी कटौती को बचत की संज्ञा देने वाले राज्य सरकार अपने में बदलाव लाए अन्यथा ग्रीष्मकालीन अवकास के बाद सरकार के विरोध संघर्ष को तैयार रहें। उक्त बाते प्रारंभिक माध्यमिक शिक्षक संघ हथुआ इकाई की बैठक को सम्बोधित करते हुए जिला उपाध्यक्ष उमेन्द्र कुमार सिंह ने कहा।

उन्होंने कहा कि आगामी 25 मई को पटना में आयोजित प्रदेश स्तरीय बैठक में आगे की रणनीति पर चर्चा करने के बाद उचित निर्णय लिया जाएगा।

बैठक की अध्यक्षता प्रदेश कोषाध्यक्ष विनय कुमार, मंच संचालन प्रखण्ड संगठन मंत्री दिलीप कुमार तथा धन्यवाद ज्ञापन सुभाष साह ने किया। बैठक को शिक्षक राजेश कुमार, दिलीप ठाकुर, जितेंद्र साह, मुन्ना कुमार उपस्थित रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.