पूर्व मध्य रेल के 5 स्टेशनों को पीपीपी मोड पर विकसित किया जाएगा। पूर्व मध्य रेल के राजेन्द्रनगर टर्मिनल, मुजफ्फरपुर, गया, बेगूसराय एवं सिंगरौली स्टेशनों पर विश्वस्तरीय यात्री सुविधा मुहैया करायी जाएगी। यह निजीकरण नहीं है बल्कि सहभागिता से स्टेशन को विकसित करने की बात है। इससे यात्रियों को जल्द ही स्टेशनों पर उच्च कोटि की सुविधा मिलने लगेंगी ।
रेल भूमि विकास प्राधिकरण (Rail Land Development Authority) द्वारा रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाने की दिशा में कार्य शुरू कर दिया गया है । रेल भूमि विकास प्राधिकरण (आर.एल.डी.ए.) द्वारा स्टेशनों के पुनर्विकास से जुड़े ये कार्य पीपीपी (पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप) मोड पर पूरे किए जाएंगे । रेलवे के इस कदम से यात्री सुविधा के विकास में काफी गति आएगी । विदित हो कि रेल भूमि विकास प्राधिकरण रेल मंत्रालय के अधीन एक सांविधिक प्राधिकरण (Statutory Authority) है ।
इन स्टेशनों को विश्वस्तरीय रूप देते हुए अत्याधुनिक सुविधा से सुसज्जित किया जाएगा। स्टेशनों को ग्रीन बिल्डिंग का रूप दिया जाएगा जहां वेंटिलेशन आदि की पर्याप्त व्यवस्था होगी । स्टेशनों पर आगमन एवं प्रस्थान के लिए अलग-अलग व्यवस्था होगी। प्रवेश और निकास द्वार ऐसे होंगे जिससे यात्रियों को भीड़-भाड़ का सामना नहीं करना पड़े । प्रत्येक प्लेटफार्म पर एस्केलेटर एवं लिफ्ट लगाए जाएंगे ताकि एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर आने-जाने में यात्रियों को सुविधा हो । इससे वरिष्ठ नागरिक विशेष रूप से लाभान्वित होंगे।
यात्रियों की अतिरिक्त भीड़ से बचने के लिए प्लेटफार्मों पर पर्याप्त कोंकोर्स का प्रावधान होगा । इन स्टेशनों पर आने वाले यात्री कैटरिंग, वाशरूम, पेयजल, एटीएम, इंटरनेट जैसी उच्चस्तरीय बुनियादी सुविधा का लाभ ले पाएंगे । पार्किंग एरिया में बढ़ोत्तरी करते हुए स्टेशन को जोड़ने वाले शहर के दोनों छोर को एकीकृत करते हुए सार्वजनिक/निजी परिवहन प्रणाली को विकसित किया जाएगा। प्लेटफार्म पर यात्रियों को आवागमन में किसी प्रकार की असुविधा नही हो, इसके लिए प्लेटफार्मों पर पार्सल का मुवमेंट पूर्णतः निषिद्ध रहेगा । ट्रेन से उतरकर होटल में ठहरने वाले यात्रियों के लिए कम दर पर होटल की सुविधा मुहैया होगी साथ ही स्टेशन को चिकित्सा सुविधा से युक्त किया जाएगा ।

—— संजीव कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published.