नेत्रदान महादान के उद्शेय को लेकर पिंकी देवी के परिजन को दधचि देहदान संस्था ने गुरहट्टा, हमाम स्थित आवास पर जाकर प्रशस्ति-पत्र दी. इस बारे में पिंकी देवी के पिता मनोज राय ने बताया कि शादी के महज छह माह के अन्दर 21 वर्षीय पुत्री पिंकी देवी को वैशाली में रहने वाले ससुराल वाले ने महज एक मोटरसाइकिल के लिए पीट-पीटकर घायल कर दिया. साथ ही ईलाज के दौरान पीएमसीएच में मौत हो गयी. मनोज राय ने कहा कि पुत्री अमर रहे इस उदेश्य को लेकर मृत्यु के उपरान्त पीएमसीएच में उसका नेत्रदान कर दिया.
सामाजिक कार्यकर्ता संजीव कुमार यादव ने उसकी स्मृति में मृत आत्मा के नाम पर एक वृक्ष लगाने के लिए एक पौधा भेंट कर श्रद्धांजलि दी. दूसरी ओर दधचि देहदान संस्था के महासचिव विमल जैन, डॉ. त्रिलोकी प्रसाद ने संयुक्त रूप से संस्था की ओर से प्रशस्ति – पत्र दे कर मनोज राय और उनके परिवार का आभार व्यक्त किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.