अखंड भारत संकल्प दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन

नवादा, 14 अगस्त। हजारों वर्षो तक इजरायल के लोग अपनी मातृ भूमि से अलग रहे। अपना घर और देश क्या होता है? ये बात, दर-दर ठोकर खाने के बाद उन्हें अच्छी तरह मालूम हो गया था। अठारह सौ वर्षों के लंबे अंतराल के पश्चात इजरायल (येरुशलम) को अपना अस्तित्व (भू-भाग) प्राप्त हुआ। उञ्चलीस खंडों में बंटने के पश्चात् जर्मनी का एकीकरण हुआ तो इसके पीछे वहां के लोगों का त्याग व संघर्ष की गाथा के पश्चात संभव हुआ। आज की युवा पीढ़ी को तोड़ मरोड़कर इतिहास पढ़ा कर भ्रम में रखा जा रहा है अगर आज की युवा पीढ़ी यह तय कर ले तो पुनः खंडित भारत को अखंड राष्ट्र हिंदू राष्ट्र में परिणत किया जा सकता है। उक्त बाते राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, उत्तर पूर्वी क्षेत्र के बौद्धिक प्रमुख देवव्रत जी ने अखंड भारत संकल्प दिवस संगोष्ठी में युवाओं के बीच कह रहे थे।

तत्कालिक लोभ के कारण मुस्लिमों ने देश को तोडा

उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा कि देश की आजादी में हिंदू-मुस्लिम ने समान रूप से लड़ाई लड़ी लेकिन अंग्रेजों ने मुस्लिम समुदाय को तत्कालिक लोभ देकर समाज को तोड़ने का कार्य किया और काफी हद तक सफल भी रहा। परिणाम स्वरूप आज तक आपस में ही उलझे हुए है और आपस में लड़ रहे हैं।

युवा छात्रों ने अखंड भारत बनाने का संकल्प दोहराया

वही जिला महाविद्यालय विद्यार्थी कार्य प्रमुख विवेक सिंह ने धन्यवाद करते हुए युवाओं को अखंड भारत बनाने का संकल्प दिलाया। मंच संचालन जिला प्रचार प्रमुख कृष्ण मुरारी शास्त्री ने किया। सामूहिक गीत स्वयंसेवक सतीश कुमार ने गया।

नवादा में शिक्षा की अलख जगाने का कार्य कर रहे बाजीराव कंपटीशन सेंटर के पवन कुमार, विक्की कुमार, गौरव टीचिंग सेंटर के निदेशक गौरव कुमार, आकाश बैंकिंग के निदेशक राजीव कुमार, एस.के. मोदी कंपटीशन सेंटर के निदेशक एस.के. मोदी, अल्फा क्लासेस के सूर्यकान्त कुमार, सुपर-30 के निदेशक आनंद राज, ए.के. गुरु कंपटीशन क्लासेज के निदेशक ए.के.गुरु सहित दर्जनों युवाओं को अंगवस्त्र देकर सम्मानित भी किया गया।

कार्यक्रम को सफल बनाने में सौरभ कुमार, गुलशन कुमार, राजीव कुमार, रविशंकर सिंह, इंद्रजीत कुमार चुन्नू, पिन्टू पाण्डेय सहित दर्जनों स्वयंसेवक का भरपूर योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.