नालंदा,23 मार्च। बिहार के नालंदा जिले में अवैध पटाखा फैक्ट्री में हुआ धमाका मामला अब बढ़ता जा रहा है. इस मामले में पहली बड़ी कार्रवाई भी हो चुकी है. सोहसराय थानेदार शेर सिंह यादव को निलंबित कर दिया गया है. बता दें कि गुरुवार रात्रि को खासगंज इलाके में चल रही अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के मामले में पटाखा फैक्ट्री चला रहे मो. सरफराज पर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है. इस मामले की जांच के लिए अपर समाहर्ता, अनुमंडल पदाधिकारी बिहार शरीफ एवं पुलिस उपाधीक्षक बिहार शरीफ की तीन सदस्यीय जांच कमेटी बनाई गई है.

वहीं अभी-अभी जानकारी मिल रही है कि खासगंज इलाके में हुए धमाके में जांच करने 8 सदस्यीय एटीएस की टीम घटनास्थल पर पहुंची है. वहीं यह भी जानकारी मिल रही है कि जांच के दौरान कई अहम सुराग भी मिले हैं. एटीएस की टीम अपने साथ मौके से मिले कई सैंपल को ले गयी है. इस बाद की पुष्टि एटीएस के डीएसपी कुंदन कुमार ने की है.

घटना में घायल महिला

वहीं जिलाधिकारी डॉक्टर त्यागराजन एसएम ने नगर आयुक्त बिहारशरीफ को निर्देश दिया है कि तीन दिनों के अंदर शहर में सभी अवैध पटाखा दुकानों व पटाखा निर्माण करने वालों की जांच कर एक रिपोर्ट प्रस्तुत करें. इस तरह के अवैध गतिविधियों में संलग्न लोगों पर कड़ी कार्रवाई होगी.

नालंदा धामाके की जांच करने पहुंची ATS की टीम, सोहसराय थानेदार सस्पेंड

बता दें कि इस हादसे में पांच लोगों की मृत्यु हुई है. वहीं 18 लोग घायल हुए हैं. चार लोग गंभीर रुप से घायल हुए थे जिन का इलाज पीएमसीएच में चल रहा है. उनकी स्थिति खतरे से बाहर हैं. मामूली चोट आये 14 लोगों को का इलाज भी चल रहा है. प्रशासन की तरफ से सभी घायलों के इलाज पर नजर रखी जा रही है. एवं इलाज में सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है.

लोगों ने अधिकारियों से पूछे सवाल पटाखे से घर कैसे गिरे, पूछना भी लाजमी है अगर अवैध पटाखा फैक्ट्री में पठाखे के स्थान पर कही बम बनाया जा रहा हो? इतना विस्फोटक एक साथ कहाँ से और कैसे आया?  इतना जोरदार धमाके में चार घरों को नुकसान की बात बताई जा रही हैं, फिर भी प्रसासन पटाखे की बात क्यों कर रही हैं। सवाल कुछ और भी हैं जिनका जवाब मिलना बाकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.