सीवान, 08 मार्च. कुटुंब प्रबोधन (परिवारिक जागरण) के बिना सामाजिक एकता संभव नहीं है। परिवारों में ही ऐसी स्थिति पैदा हो गई है कि किसी को किसी के लिए समय नहीं है, ऐसे में समाजहित में सोचना लोगों के लिए और भी मुश्किल हो गया है। इसलिए आज सबसे बड़ी जरूरत कुटुंब प्रबोधन की है। उक्त बातें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के उत्तर बिहार प्रांत प्रचारक रामकुमार ने सीवान नगर के महावीरी सरस्वती विद्या मंदिर, विजयहाता के परिसर में संघ के द्वारा आयोजित परिवार मिलन समारोह को संबोधित करते हुए कहीं।

प्रांत प्रचारक ने कहा कि पहले हमारे परिवारों में पुरे परिवार के लोग एक साथ बैठ कर भोजन करते थे, जो हमारे परिवार एकता का मुख्य सूत्र था। अब यह आवधारणा समाप्त हो रही है। अगर परिवार को पुन: संगठित व वैभवशाली बनाना है तो पुरे परिवार को एक साथ बैठकर भोजन करने की परंपरा को पुन: परिवार में जीवित करना होगा। उन्होंने कहा कि ” कुटुंब प्रबोधन ” से ही परिवार मजबूत होगा व उससे ही देश समृद्धिशाली बनेगा।

समारोह में महावीरी स्कूल विजयहाता के प्राचार्य श्रीराम सिंह,  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सीवान जिला संघचालक डॉ. विनय कुमार सिंह, क्रीड़ा भारती सीवान के जिला मंत्री नवीन सिंह परमार, जिला कार्यकारिणी सदस्य रोहित कुमार सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.