बेगूसराय (विसंके)। उत्तर बिहार प्रांतीय क्रीड़ा भारती द्वारा 33 माताओं को राजमाता जीजाबाई सम्मान से सम्मानित किया गया। बेगूसराय के सिंघौल में आयोजित कार्यक्रम में रविवार को बिहार सरकार के कला एवं संस्कृति मंत्री आलोक रंजन झा ने सभी माताओं को सम्मानित किया।
इस मौके पर उन्होंने कहा कि क्रीड़ा भारती के कार्यों को सरकार सलाम करती है। देश और प्रदेश का नाम रौशन करने वाले खिलाड़ी को बधाई देते हुए उन्होंने खिलाड़ी की माताओं को नमन किया। उन्होंने कहा कि क्रीड़ा भारती ग्रामीण क्षेत्र को राष्ट्रीय पहचान देकर राष्ट्रवादी भावना जगाने का काम करती है। क्रीड़ा भारती जो कर रही है उसकी जितनी भी प्रशंसा की जाए वह कम है।
सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के उत्तर-पूर्व क्षेत्र के क्षेत्र प्रचारक रामदत्त चक्रधर ने कहा कि यह कार्यक्रम आशीर्वाद देने का नहीं माताओं से आशीर्वाद लेने का है। भारत पूरी दुनिया का मार्गदर्शन करता है, सभी प्रकार से दुनिया को दिशा दे रहा है और क्रीड़ा भारती पूरे देश को स्वस्थ और निरामय जीवन शैली देने का कार्य कर रही है, ताकि सभी खेलें। यह 30 वर्षों से खेल को आगे बढ़ा रही है। उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को सब जगह सम्मान मिलता है। लेकिन उनकी माताओं को सम्मान देने का काम क्रीड़ा भारती करती है। किसी भी महापुरुष के निर्माण में मातृ शक्ति का योगदान अहम है। नरेन्द्र को विवेकानंद माता भुवनेश्वरी ने बनाया था, अभिमन्यु को वीर अभिमन्यु माता सुभद्रा ने बनाया था। क्रिकेटर उमेश यादव को तेज बल्लेबाज बनाने में सबसे बड़ा योगदान उनकी मां का है। माताओं को सम्मानित कर क्रीड़ा भारती बहुत ही प्रेरक कार्य कर रही है।
राष्ट्रीय महामंत्री राज चौधरी ने कहा कि माताओं को सम्मानित करने वाले एकमात्र संगठन क्रीड़ा भारती का उद्देश्य है सक्षम महिला निर्भय महिला बनाना। महिलाओं बिहार में सरकार खिलाड़ी को सम्मानित करती है, लेकिन इसका नाम बदल दिया जाना चाहिए। हम सबका कर्तव्य होना चाहिए राष्ट्र प्रथम।
सम्मान समारोह की अध्यक्षता प्रांतीय अध्यक्ष चंद्रशेखर अधिकारी, संचालन प्रांतीय मंत्री अमित ठाकुर एवं विभाग संयोजक रणधीर कुमार तथा धन्यवाद ज्ञापन प्रांतीय उपाध्यक्ष सुमन कुमार चंद ने किया।
मौके पर क्रीड़ा भारती के राष्ट्रीय मंत्री संजय तिवारी, सह मंत्री मधुमय नाथ, दक्षिण बिहार प्रांतीय अध्यक्ष राजशेखर राय, विधान पार्षद रजनीश कुमार, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्रीय शारीरिक प्रमुख मनोज कुमार, प्रांतीय समरसता प्रमुख अमरेंद्र प्रसाद सिंह लल्लू बाबू, विभाग संचालक कुमार सुशील, संघचालक मनोरंजन वर्मा, जिला कार्यवाह राजू कुमार, जिला प्रचारक जितेश कुमार, वरिष्ठ स्वयंसेवक राम लखन सिंह, वनवासी कल्याण आश्रम के जिलाध्यक्ष शंभू कुमार, उपाध्यक्ष उषा रानी, मजदूर संघ के महामंत्री सुनील सिंह, विभाग कार्यवाहिका मीनू कुमारी, श्रमिक विकास परिषद के जिला महामंत्री विनोद राम समेत बड़ी संख्या में विभिन्न अनुषांगिक संगठनों के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

krida bharti jijabai samman samaroh.01

इन माताओं को किया गया सम्मानित


ग्रेसी शरण की मां देवंती शरण, लक्ष्य भंगालिया की मां नीलम भंगालिया, न्यासा कुमारी की मां रानी कुमारी, शाहिल कुमार की मां रानी झांसी, कल्पना कुमारी की मां क्रांति देवी, डब्लू कुमार की पुष्पा कुमारी, युक्ता रानी की मां सरिता देवी, राहुल कुमार की मां सुशीला देवी, रेमी कुमारी की मां मंजू देवी, भवेश कुमार की मां निर्मला देवी, हर्षिता भारद्वाज की मां सोनी कुमारी, अमृता रंजन की मां बंटी कुमारी, अभिषेक रंजन की मां सरोज कुमारी, अदिति कुमारी की मां रीना देवी, रोशनी कुमारी की मां रूबी देवी, जुगनू भारद्वाज की मां मधुबाला शर्मा, शालिनी कुमारी की मां मधु देवी, अभिषेक कुमार की मां संगीता सिंह, ऋषिकेश कुमार की मां बबीता देवी, वाष्वी भूषण की मां सोनी कुमारी, सुमन कुमार की मां मंजू देवी, मिहिर कुमार की मां गिन्नी कुमारी, प्रियम कुमारी की मां नीलम देवी, स्वीटी कुमारी की मां इंद्रकला देवी, राज नंदनी कुमारी की मां रिंकू देवी, कविता कुमारी की मां निभा कुमारी, खुशबू कुमारी की मां ललिता कुमारी, आशीष कुमार ओझा की मां राजकुमारी देवी, भूपति गौतम की मां अनीता देवी, खुशबू कुमारी की मां प्रियम देवी, सैयद अली की मां अनवरी खातून तथा मनीष कुमार की मां नीतू देवी को सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.