सीवान, 19 फरवरी। जयप्रकाश विश्वविद्यालय प्रशासन मुख्यमंत्री के इशारे पर अन्य छात्र संघों से भेदभाव कर रही है। उक्त बाते अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सीवान जिला संयोजक प्रदीप कुमार ने मंगलवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कही। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन छात्र संघ के चुनाव को लेकर मुख्यमंत्री व उनके सलाहकार प्रशांत किशोर के इशारे पर रोज नया नियमावली बना रहा है ताकि अभाविप जैसे नियमित विद्यार्थी संगठनों को विश्वविद्यालय छात्र संघ के चुनाव से बाहर किया जा सके।

जिला संयोजक ने बताया कि जयप्रकाश विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में  विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा चुनाव में  नामांकन करने के बाद एक नया फरमान सुनाता है कि नामांकन  करने वाले छात्र नेताओं को नामांकन फॉर्म में विश्वविद्यालय के परीक्षा कंट्रोलर द्वारा सत्यापित नामांकन फर्म ही जमा करना है, अन्यथा नामांकन रद्द कर दिया जाएगा। जबकि नामांकन के पहले इस प्रकार की कोई भी सूचना विश्वविद्यालय प्रशासन ने जारी नही किया था।

जिला संयोजक प्रदीप कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन अगर अपने आदेश में बदलाव नही करता है तो विश्वविद्यालय प्रशासन के इस भेदभाव के खिलाफ अभाविप महाविद्यालय परिसर से लेकर विश्वविद्यालय परिसर तक आन्दोलन करने के साथ-साथ उच्च न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.