पटना (विसंके)। संपूर्ण बिहार को सुखाग्रस्त क्षेत्र घोषित करने, उर्वरक के वितरण में हो रही अनियमितता एवं कालाबाजारी, पटना सोन कैनाल को पक्कीकरण किए जाने सहित कई मांगों को लेकर भारतीय किसान संघ ने बिहार के सभी जिला मुख्यालयों पर धरना दिया। पटना इकाई द्वारा गर्दनीबाग धरना स्थल में एक दिवसीय धरना का आयोजन किया गया। धरना में उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए भारतीय किसान संघ के क्षेत्र संगठन मंत्री प्रकाश नारायण तिवारी ने कहा कि पटना जिले में धान की रोपनी लगभग 40 प्रतिशत से नीचे हुई है। यही स्थिति संपूर्ण बिहार में है। उन्होंने मांग किया कि बिहार सरकार पूरे बिहार को सुखाग्रस्त क्षेत्र घोषित करे एवं किसानों को जल्द से जल्द मुआवजा प्रदान करें।
क्षेत्र संगठन मंत्री ने कहा कि प्रदेश भर के सभी प्रखण्डों के कृषि कार्य में बीजगुणन प्रक्षेत्र के बदहाली को सुधारा जाए, सरकारी कृषि जमीन को दूसरे कार्यों के लिए हस्तांतरित नहीं किया जाए। क्षेत्र संगठन मंत्री ने मांग किया कि कृषि फीडर के माध्यम से सस्ते दर पर निर्बाध बिजली की आपूर्ति की जाए, जिससे किसानों की आय में बढ़ोतरी हो। धरना की अध्यक्षता पटना जिलाध्यक्ष योगेन्द्र प्रसाद सिंह एवं संचालन जिला मंत्री श्याम किशोर शर्मा ने किया। धरना को दक्षिण बिहार प्रांत के महामंत्री पवन कुमार, प्रांतीय अध्यक्ष रमेश सत्यार्थी, प्रांत मंत्री अशोक कुमार, पूर्व जिलाध्यक्ष अजय सिंह, अखिलेश सिंह सहित सैकड़ो लोगों ने संबोधित किया।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.