भारतीय सांसदों का एक विशेष जांच दल बांग्लादेश भेजा जाए


 पटना (विसंके). आज में बांग्लादेश उच्चायोग के सामने रोष प्रदर्शन को संबोधित करते समय विहिप के संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेंद्र जैन ने कहा कि बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हो रहे अत्याचार बर्बरता की सभी सीमाएं पार कर चुके हैं. यह संपूर्ण विश्व के लिए चुनौती है कि बांग्लादेश में हो रहे बर्बर अत्याचारों को किस प्रकार रोका जाए. भारत सरकार अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकती. बांग्लादेश सरकार को भी अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए पूर्ण निष्पक्षता के साथ सभी नागरिकों के जान माल की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए. विश्व हिन्दू परिषद, हिन्दू समाज पर हो रहे अत्याचारों को मूकदर्शक बनकर नहीं देख सकती.

उन्होंने पूछा कि जिस हिन्दू ने संपूर्ण मानवता के कल्याण की कामना की, उस हिन्दू को अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश में क्यों प्रताड़ित किया जा रहा है? क्या हिन्दू की सभ्यता उसकी कमजोरी बन गई है? संपूर्ण विश्व बिरादरी को समझ लेना चाहिए यदि हिन्दू समाप्त हुआ तो संपूर्ण विश्व में सभ्यता समाप्त हो जाएगी. इसलिए संपूर्ण विश्व बिरादरी को आगे आकर इस इस्लामिक कट्टरता का मजबूती से शमन करना चाहिए. भारत सरकार जितनी मजबूती से अफगानिस्तान और पाकिस्तान में हिन्दुओं पर होने वाले अत्याचारों को उठाती है, बांग्लादेश में होने वाले अत्याचारों के विरोध में इतनी मजबूती से नहीं खड़ी होती. इसलिए भारत सरकार को पूरी कठोरता के साथ शेख हसीना को इस बात के लिए मजबूर करना चाहिए कि वह हिन्दुओं पर कोई दमन, कोई अत्याचार ना होने दें. भारत का टूल किट गैंग जो फिलिस्तीन के बारे में कुछ भी बोलता है, बांग्लादेश पर बोलते समय यह क्यों कहता है कि यह किसी एक देश का आंतरिक मामला है? उनका दोगलापन इससे स्पष्ट होता है.

आज नागरिकता संशोधन कानून का महत्व सबको समझ में आ रहा है. पीड़ित हिन्दू भारत में नहीं तो कहां जाएगा? हमने सभी पीड़ितों को शरण दी है तो हिन्दू पीड़ित को क्यों नहीं? इसलिए सभी दलों को भी नागरिकता संशोधन कानून को लागू करने के लिए नियम लाने के लिए सरकार से निवेदन करना चाहिए. केंद्र सरकार को सांसदों का एक जांच दल बांग्लादेश में भेजना चाहिए जो बांग्लादेश में हिन्दुओं पर हो रहे अत्याचारों की पूर्ण जांच करके उसकी रिपोर्ट सार्वजनिक करे.

कार्यक्रम को विश्व हिन्दू परिषद दिल्ली के अध्यक्ष कपिल खन्ना ने कहा कि हम किसी भी हालत में पूरी दुनिया में कहीं भी हिन्दू पीड़ित होगा, उसके पक्ष में आवाज अवश्य उठाएंगे और तब तक आवाज उठाते रहेंगे जब तक वह सुरक्षित ना हो जाए. महंत नवल किशोर दास जी व अन्य संतों ने हिन्दू समाज की भावनाओं को व्यक्त किया और बांग्लादेश को चेतावनी दी कि जिस देश को भारत ने निर्माण किया है, वह भारत का एहसान मानने की जगह भारत को और हिन्दुओं को आंखें दिखाता है, भारत विरोधी और हिन्दू विरोधी कार्य करता है. यह स्वीकार नहीं किया जा सकता.

कार्यक्रम के अंत में डॉ. सुरेंद्र जैन और कपिल खन्ना ने बांग्लादेश उच्चायुक्त को वहां की प्रधानमंत्री के नाम एक ज्ञापन दिया, जिसमें मांग की गई कि वे अपने देश में हिन्दुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करें क्योंकि हिन्दू समाज ने बांग्लादेश के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान तो दिया ही है, अपने सभी नागरिकों को सुरक्षा प्रदान करना उनकी प्राथमिकता होनी चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.