बीते 23 जुलाई को भारतीय मजदूर संघ का 64वां स्थापना दिवस पुर प्रदेश में धूम-धाम से मनाया गया. पुरे प्रदेश में अनेक तरह के कार्यक्रम आयोजित किये गए.

भारतीय मजदूर संघ से सम्बद्धता प्राप्त बिहार प्रदेश मध्याह्न भोजन कर्मचारी रसोइया संघ की अध्यक्ष सुदिना देवी ने बधाई देते हुए कार्यकर्ताओं को संबोधन किया, साथ ही सभी कार्यकर्ताओं के लिए भोजन की व्यवस्था की गयी.

वहीं इस अवसर गोपालगंज में श्रम माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश मंत्री राकेश कुमार भारती ने जोन होटल में आयोजित कार्यक्रम में  कहा कि भारतीय मजदूर संघ अपने कार्यो से 64 वर्षों मे ही भारत का सबसे बड़ा केंद्रीय श्रमिक संगठन बन गया है.  देश के अन्य श्रम संगठनों की तरह यह किसी संगठन के विभाजन के कारण नहीं बना वरन एक विचारधारा के लोग से बना हैं. यह देश का पहला मजदूर संगठन है, जो किसी राजनैतिक दल की श्रमिक इकाई नहीं, बल्कि मजदूरों का, मजदूरों के लिए, मजदूरों द्वारा संचालित अपने में स्वतंत्र मजदूर संगठन है.

भारतीय मजदूर संघ के 64वें स्थापना दिवस पर शिवहर में अभिराज आनंद काम्प्लेक्स में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे अभिराम सिंह ने बताया कि मजदूर संघ की कल्पना भोपाल में महान विचारक स्वर्गीय दत्तोपंत ठेंगड़ी द्वारा प्रख्यात स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के जन्मदिवस 23 जुलाई 1955 के अवसर पर शुभ आरंभ हुआ था. वही नवीनगर प्रखंड के चन्द्र्गढ़ इस अवसर पर 20,000 से अधिक मजदूरों को भारतीय मजदूर संघ की सदस्यता दिलवाई गयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.