फिरोज़ खान (जन्मदिन 25 सिंतबर 1939)
पटना, 25 सितम्बर। फ़िरोज़ ख़ान उर्फ ‘आरडीएक्स’ ( अंतिम फ़िल्म वेलकम में पात्र का नाम) हिन्दी फ़िल्मों के एक अभिनेता थे। उन्होंने लंबी फिल्मों पारी खेली। वे अपनी खास शैली, अलग अंदाज और किरदारों के लिए जाने जाते रहे। फ़िल्मों में कहीं वो एक सुंदर हीरो की भूमिका में हैं तो कहीं खूंखार विलेन के रोल में।दोनों हीं चरित्रों में फिरोज खान जान डाल देते थे। उनका जन्म 25 सितंबर, 1939 में बंगलौर में हुआ था। फिरोज खान ने सुंदरी के साथ जिन्दगी का सफर 1965 में शुरू किया। दोनो 20 साल तक साथ रहे। 1985 में उनके बीच तलाक हो गया।
सन 1960 में दीदी नाम के फ़िल्म से उन्होंने फ़िल्मी पारी की शुरुआत की। दर्जनों फिल्मों में काम किया। निर्देशन के क्षेत्र में भी हाथ आजमाया। पाँच दशक तक फिल्मों में सक्रिय रहने वाले फिरोज़ खान ने 2007 में अपनी अंतिम फ़िल्म वेलकम में एक अलग अंदाज में नज़र आए। इस फ़िल्म में उनका आरडीएक्स नाम दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय रहा।

अपराध, उपासना, मेला, आग जैसी फ़िल्मों से पहचान मिली. फिल्मों, धर्मात्मा, जानबाज, कुर्बानी, दयावान जैसी फिल्मों ने उन्हें शोहरत दिलाई। काफी दिनों तक कैंसर से जुझ रहे फिरोज खान ने बंगलौर के अपने फार्म हाउस में 27 मई,2009 की रात आखिरी सांस ली।
काफी दिनों तक कैंसर से जुझ रहे फिरोज खान ने बंगलौर के अपने फार्म हाउस में 27 मई, 2009 की रात आखिरी सांस ली।
अभिलाष दत्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.