भारती शिक्षा समिति बिहार, कदमकुआं, पटना के प्रदेश सचिव गोपेश कुमार घोष ने देश में सम्पूर्ण लॉकडाउन होने पर भी तेजी से फैल रहे वैश्विक महामारी कोरोना से मरीजो की संख्या में निरंतर बृद्धि पर चिंता जताई है। उन्होने दक्षिण बिहार में चलनेवाले अपने सरस्वती शिशु/विद्या मंदिर विद्यालयों के प्रधानाचार्य बंधु-भगिनी को देश के वैश्विक महामारी काल का परिचय देते हुए अपने विद्यालयों को चिकित्सालय स्वरूप उपयोग करने का बिहार प्रशासन से आग्रह करने हेतु निर्देश जारी किया।
अपने समाज के निर्बलों के लिए विद्यालय की आर्थिक स्थिति के अनुसार आगामी दिनों 25, 50 या 100 पैकेट भोजन की व्यवस्था, प्रशासन को सूचना देकर करें। उन्होंने अपने सभी छोटे-बड़े विद्यालयों की समिति सदस्यों, आचार्यगण से आग्रह किया कि देश के संकट के समय आगे आकर अपने अपने सामर्थ्य के अनुसार योजना बनाकर, आर्थिक सहयोग करते हुए सामाजिक दूरी बनाकर भोजन पैकेट व्यवस्था बनाने में सहयोग करें। उन्होंने अपने शुभचिंतकों, पूर्व छात्रों, अभिभावकों, मातृ-भारती, विद्वत परिषद के सभी सदस्यों से भी विनम्र निवेदन किया की देश के संकट के समय आगे आकर, प्रशासन के साथ मिलकर सहयोग करें।
साथ हीं उन्होंने बिहार के प्रशासन से भी आग्रह किया कि इस महत्वपूर्ण कार्य को मूर्त रूप देने में आप सभी देवदूत स्वरूप प्रकट हों, ऐसी अपेक्षा है। अंत में उन्होने प्रधानमंत्री का 5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट दीप प्रज्वलन का निर्देश को भी सभी को पालन करने का निवेदन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.