जयुपर में भारत-तिब्बत सहयोग मंच की एक चिंतन बैठक आयोजित हुई। इस दौरान निर्णय लिया गया कि मंच एक मार्च तक देशभर में एक लाख नए कार्यकर्ता जोड़ेगा। समस्त कार्यकर्ता तिब्बत और कैलाश मानसरोवर की मुक्ति के लिए घर-घर संपर्क करके, रैलियों और गोष्ठियों के माध्यम से जनांदोलन चलाएंगे। इस सबको करते हुए चीन की आर्थिक कमर तोड़ना भी जरूरी है। चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के संदेश को घर-घर तक पहुंचाने के अभियान को और तेज किया जाए। इस अवसर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक श्री इन्द्रेश कुमार उपस्थित थे। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जब एक लाख कार्यकर्ता एक साथ एक काम में जुटेंगे तो उसके परिणाम अच्छे आएंगे। बैठक में यह भी चर्चा हुई कि चीन में व्यापार कर रही दूसरे देशों की कंपनियों का चीन से मोह भंग हो रहा है। ऐसी कंपनियों को भारत में लाया जाए। इसके लिए मंच की ओर से केन्द्र सरकार को पत्र भेजा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.