हिंदू जागरण मंच स्थानीय विधायक के आरोपों का खंडन करता है और प्रशासन से अपराधियों की अभिलंब गिरफ्तारी की अविलंब मांग करता है.


पटना (विसंके)। पूर्णिया के बायसी प्रखंड के मछुआ गांव में 19 मई को हरिजन टोला के हिंदुओं की बस्ती में सैकड़ों की संख्या में असामाजिक तत्वों के द्वारा हमला किया गया। इस हमले में मेवालाल नाम के सेवानिवृत्त चौकीदार की हत्या कर दी गई, साथ ही 15 से ज्यादा घरों में आग लगाया गया, महिलाओं के साथ मारपीट की गई और उन लोग को धमकाया गया कि आप यहां से छोड़कर चले जाएं नहीं तो आप का भी वही हश्र होगा जो दूसरों का हुआ है। उक्त बाते एक पत्रकार वार्ता के दौरान हिंदू जागरण मंच, बिहार के संगठन मंत्री यशवंत कुमार सिंह ने कहा।

उन्होंने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि बायसी की घटना के बाद पहली बार ऐसा हुआ था कि हिंदू जागरण मंच के लोगों ने वहां जाकर पीड़ित लोगों के बीच खाना बांटना, दवाइयां देना और जरूरत की बहुत सारी चीजों से उनकी मदद की गई। हिंदू जागरण मंच के सदस्यों के द्वारा वहां दौरे के बाद वहां का प्रशासन जागा और दूसरे राजनीतिक दलों में खलबली मची।


 इसके बाद स्थानीय एआईएमआईएम विधायक सैयद रूकनुद्दी ने सोशल मीडिया के द्वारा झूठे और बिना सिर-पैर के आरोप लगाने शुरू कर दिए। संगठन मंत्री ने स्थानीय विधायक के झूठे आरोपों का हिंदू जागरण मंच न सिर्फ खंडन करता है बल्कि वहां सुनियोजित तरीके से किए गए अपराध पर अपराधियों की अभिलंब गिरफ्तारी की अविलंब मांग करता है।


 संगठन मंत्री यशवंत कुमार सिंह ने कहा कि जब से पूर्वांचल में एआईएमआईएम पार्टी के विधायक बने है तब से हिन्दुओं पर अत्याचार और अधिक बढ़ गया है. बायसी में जो कुछ भी हुआ जो घटना घटी वह सिर्फ एक अपराध नहीं है बल्कि यह सुनियोजित तरीके से किए गए धार्मिक उन्माद है जिसमें सैकड़ों की संख्या में असामाजिक तत्वों ने अल्पसंख्यक हिंदुओं पर हमला किया।


 पूर्वांचल क्षेत्र में लगातार जमीन से संबंधित घटनाएं बढ़ रही है और कार्यवाही नहीं हो रहा है। हिंदू जागरण मंच इस प्रकार की घटनाओं की निंदा करता है और जल्द से जल्द से रोकने की प्रशासन से मांग करता है।

पत्रकार वार्ता के दौरान जीवन जी, विधि संभाग प्रमुख बिहार प्रवीण सिन्हा, महानगर संयोजक अंजनी, महानगर अध्यक्ष धर्मेंद्र, उपाध्यक्ष महानगर संतोष कुमार मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *