गया, 15 दिसंबर। मगध विश्वविद्यालय के कुलपति कमर अहसन को राजभवन द्वारा हटाए जाने पर शुक्रवार को अभाविप के सदस्यों ने जश्न मनाया और अबीर-गुलाल लगाकर खुशी मनाई। इस बारे में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अमन मिश्र ने आरोप लगाया कि मगध विश्वविद्यालय के कुलपति कमर अहसन की जब से नियुक्ति विश्वविद्यालय में हुई थी तब से विश्वविद्यालय में अराजकता और भ्रष्टाचार चरम पर था। एक भी छात्र संतुष्ट नहीं थे। परीक्षा परिणाम में त्रुटि आ रही थी। प्रवेश पत्र से लेकर अंक प्रमाण पत्र में त्रुटिपूर्ण आ रहे थे। शैक्षणिक सत्र अनियमित कर दिया गया था। विश्वविद्यालय में विरोध करने पर जेल भेजा जा रहा था।
वही उपाध्यक्ष सुबोध कुमार पाठक एवं अभिषेक निराला ने कहा कि मगध विश्वविद्यालय के कुलपति के पूरे कार्यकाल की एक कमेटी बनाकर जांच करना चाहिए। कुलपति के कार्यालय की जांच की मांग कुलाधिपति लालजी टंडन से की जाएगी। कुलपति की शिकायत कई बार राजभवन में की गई थी और हर बार बहाना बनाकर बच जा  रहे थे। उनके जाने से छात्रों के भविष्य को बचाने का कार्य किया गया है।
इस मौके पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्य समिति सदस्य अमन मिश्रा अभिनव त्रिपाठी राहुल कुमार विक्रम नारायण संजीत दागी अमरजीत कुमार आदिल शमशेर कृष्णा विवेक सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.