बीहट, बेगूसराय। भारतीय मजदूर संघ, बेगूसराय इकाई के जिला मंत्री सह अखिल भारतीय  कंस्ट्रक्शन मज़दूर महासंघ के राष्ट्रीय मंत्री सुनील कुमार सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल राज्य सभा सांसद राकेश कुमार सिन्हा को मज़दूरों से सम्बंधित एक मांग पत्र सौंपा। इसके अलावे सैकड़ों मज़दूरों के द्वारा हस्ताक्षरयुक्त पत्र भी राकेश सिन्हा को सौंपा गया।

प्रतिनिधिमंडल के द्वारा दिये गए मांग पत्र के आलोक में राकेश सिन्हा ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया कि मज़दूरों की मांगों के संबध में हर सम्भव कार्य करेगें तथा इसके सम्बन्धित विभाग के मंत्रियों व पदाधिकारियों से भी बात की जाएगी ताकि समस्सया का समाधान हो सके।

मांग पत्र के मध्याम से कहा गया है कि प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत बेगूसराय में बरौनी फर्टिलाइजर का पुनरुद्धार का कार्य चल रहा है ताकि समाज के अंतिम पायदान पर खड़े मजदूरों को अपने-अपने क्षेत्रों में रोजगार का अवसर मिले और बिहार से श्रमिकों का पलायन रोकने हेतु इस तरह की पहल की जा रही है। लेकिन दुर्भाग्यवश बेगूसराय जिले में बरौनी फर्टिलाइजर सहित छोटे बड़े कारखानों में काम कर रहे श्रमिकों का शोषण एवं दोहन किया जा रहा है। श्रम अधिनियम की धज्जियां उड़ाई जा रही है। श्रमिक हर्ल प्रबंधक संवेदक को जिला प्रशासन के सांठ गांठ के सामने लाचार हैं और मजबूर होकर भारत सरकार के द्वारा निर्धारित न्यूनतम मजदूरी से भी कम रेट पर काम करने को मजबूर हैं।

वही बीएमएस के जिला मंत्री सुनील कुमार सिंह ने कहा कि बरौनी  खाद कारखाना में कार्यरत मजदूरों की विभिन्न मांगों को लेकर हर्ल प्रबंधन के विरोध बीएमएस के द्वारा आंदोलन, धरना प्रदर्शन, गेट मीटिंग किया जा रहा है इसके बावजूद हर्ल प्रबंधन मजदूरों के हित की और कोई काम नहीं कर रही है। इसको देखते हुए बीएमएस के द्वारा तीन दिवसीय हस्ताक्षर अभियान चलाया गया जिसमें हजारों मजदूरों ने अपना हस्ताक्षर किया है जिसे राज्यसभा  सांसद राकेश कुमार सिन्हा को मांग पत्र के साथ दिया गया है। इसके अलावे स्थानीय सांसद गिरिराज सिंह, श्रम मंत्रालय तथा देश के प्रधानमंत्री को भी मांग पत्र एवं हस्ताक्षर युक्त पत्र भेजा जाएगा मौके पर भाजपा नेता नवीन सिंह, कृष्ण मोहन पपु, रणकुमार महर्षि, महेश सिंह, कौशल कुमार मंगड़ू समेत अन्य लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.