अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पटना विश्वविद्यालय द्वारा आज से एलएलबी एंटरेंस टेस्ट को लेकर नि:शुल्क दस  दिवसीय वर्ग का उद्घाटन किया गया. दस दिनों तक चलने वाले वर्ग के दौरान पटना विश्वविद्यालय के अंतर्गत लॉ कॉलेज द्वारा होने वाले एलएलबी इंट्रेंस टेस्ट को लेकर पढ़ाई करवाई जाएगी. जिसमें वकालत की पढ़ाई करने वाले इच्छुक छात्र-छात्रा अपना नामांकन लॉ कॉलेज में करवा सकें.

अभाविप के प्रांत संगठन मंत्री अनिल दुबे ने कहा कि अखिल भारतीय विधार्थी परिषद् ने राष्ट्रीय पुननिर्माण के व्यापक संदर्भ में कार्य करने का लक्ष्य सामने रखकर अखिल भारतीय छात्र संगठन के रूप में समाज जीवन के सभी क्षेत्रों में कार्य प्रारंभ किया। विधार्थी परिषद् समूचे शिक्षा परिवर्तन के लिए अनवरत् संघर्षरत रही है। परिषद् का यह मानना है कि हमारी नई पीढ़ी को देश के गौरवपूर्ण इतिहास का स्पष्ट ज्ञान होना आवश्यक है। जिससे उनका सभी देशवासियों से अपनेपन का ऐसा नाता बने कि उनके दुःख की अनुभूति से अपनी मजबूत जड़ों पर दुनियाभर का ज्ञान समेटते हुए भारत को एक आधुनिक परंतु अपनी विशिष्ट पहचान को संजोते हुए महान देश बनाने का सपना हमारी नई पीढियां देखेंगी। शिक्षा जो विधार्थियों को केवल कैरियर ही नहीं बल्कि सामान्य देशवासियों के लिए कुछ करने का संकल्प भी देगी, ऐसी शिक्षा की हमारे लिए आवश्यकता है। “शिक्षा जीवन के लिए – जीवन वतन के लिए” यह सोच आम छात्र की बने।

abvp bihar

उपस्थित समाजसेवी सुंदरकात चौधरी ने कहा कि विधार्थी परिषद् द्वारा छात्रों में छुपी हुई विविध प्रतिभाओं को प्रोत्साहन देने वाली गतिविधियाँ महाविधालयों में बढ़ाने का प्रयास के साथ ही स्वयं अपनी इकाइयों द्वारा खेलकूद प्रतियोगिताएँ, साहित्य एवं नाट्य स्पर्धाएँ/सम्मेलन – ‘प्रतिभा संगम’ ‘रंगतोरण’ , कैरियर मार्गदर्शन एवं ‘व्यक्तित्व विकास शिविर’ जैसे कार्यक्रमों का आयोजन होते हैं। अभियांत्रिकी के छात्रों के तकनीकी प्रयोगों की स्पार्ध-डिपैक्स, ‘सृजन’ ,सृष्टि आदि। मेडिकल, आयुर्वेद, औषधिशास्त्र एवं कृषि के विधार्थियों हेतु विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाता है। पटना विश्वविद्यालय में एलएलबी के इच्छुक छात्रों के इंट्रेंस कि तैयारी के लिए नि:शुल्क क्लास का अभाविप द्वारा यह आयोजन बहुत सराहनीय है, इससे आम छात्र लाभान्वित होंगे।

मौके पर प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य नित्यम मिश्रा, विशवविद्यालय प्रमुख मुकेश यादव, संयोजक सुधांशु झा, उपेंद्र कुमार, धर्मेंद्र कुमार एवं कार्यक्रम प्रमुख विभूति सिंह सहित दर्जनों छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.