त्रिवेणीगंज,11 अप्रैल। अनूपलाल यादव महाविद्यालय के सभागार में नियमित वर्ग संचालन हेतु छात्र छात्राओं की उपस्थिति को लेकर विभिन्न छात्र  संगठनों,अभिभावक,छात्र-छात्राओं एवं गणमान्य व्यक्ति  के साथ एक बैठक की गई। जिसकी अध्यक्षता प्राचार्य श्री जयदेव प्रसाद यादव द्वारा किया गया। बैठक को संबोधित करते हुए प्राचार्य श्री जयदेव प्रसाद यादव ने कहा ने कहा कि  विश्वविद्यालय के अंतर्गत कई अंगीभूत महाविद्यालय है जिसमें त्रिवेणीगंज में यह पहला डिग्री महाविद्यालय है जिसमें नई तकनीकों का इस्तेमाल कर वैज्ञानिक तरीके से बनाए गए प्रायोगिक कार्यशाला, पुस्तकालय, कंप्यूटर लैब जिसका यहां के छात्र छात्राएं उपयोग नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने  अफसोस जताते हुए बताया की पूर्व में भी छात्र छात्राओं की उपस्थिति को लेकर प्रयास किए जा चुके हैं लेकिन मुझे सफलता नहीं मिली अब मैं छात्र संगठनों एवं अभिभावकों से अपील करना चाहूंगा कि अपने बच्चों की अधिक से अधिक उपस्थिति करवाने में महाविद्यालय परिवार का सहयोग करें ताकि हमारा प्रयास सफल हो सके। बोले कि मैं निरंतर महाविद्यालय के भविष्य को लेकर चिंतित रहता हूं और महाविद्यालय में नई-नई व्यवस्थाओं को लेकर तत्पर रहता हूं और मैं चाहता हूं की हमारा महाविद्यालय विश्वविद्यालय व राज्य में ही नहीं बल्कि पूरे देश में नाम करें इसके लिए सभी छात्र संगठनों के प्रतिनिधिगण से,  अभिभावकों से तथा छात्र छात्राओं से निवेदन करना है कि हमारी सोच को त्रिवेणीगंज में पटना के स्तर की पढ़ाई का जो मेरा सपना है उसे साकार करने में हमारी मदद करें और वह तब संभव है जब हमारे छात्र संगठन के कार्यकर्ता अभिभावक गण अपने स्तर से बच्चों को जागरुक करने का काम करेंगे।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के मौसम कुमार ने कहा कि हम अपने संगठन के तरफ से हर संभव महाविद्यालय परिवार का सहयोग करने हेतु तत्पर है इसके लिए जो भी रणनीतियां बनानी पड़ेगी हम सक्षम हैं प्राचार्य महोदय के साथ पूर्व में भी हम निजी शिक्षण संस्थानों में जाकर छात्र छात्राओं को महाविद्यालय में उपस्थित होने की बात कर चुके हैं। उन्होंने अपने प्रस्ताव में नामांकन के समय एक शपथ पत्र दाखिल करवाने की बात रखी जिसमें कि छात्र तथा अभिभावक दोनों के हस्ताक्षर करवा करवाए जाने की बात रखी है साथ ही महाविद्यालय परिसर में एक नोटिस बोर्ड लगवाने जिस पर महाविद्यालय के नियम  शर्तों के साथ 75 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य होने की बात लिखी जाने की बात रखी। छात्र राजद के विवेक राज चौधरी एवं  आईसा के संतोष कुमार ने इन प्रस्तावों का समर्थन किया । बैठक में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्र नेता त्रिलोक कुमार ,डॉ सदानंद सिंह,  डॉ.सुरेश कुमार नेभी अपने विचार रखे।

मौके पर प्रोफेसर सुजीत ना. यादव , प्रो.रामसुंदर यादव , राजू कुमार , गगन कुमार,गोलू राय,आलोक कुमार,रानी,सोनी,बबीता,रेखा, साक्षी कुमारी आदी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.