पटना, 12 नवंबर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्, पटना महानगर द्वारा सुप्रसिद्ध साहित्यकार आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव के निधन पर शोक सभा आयोजित किया गया। सभा का आयोजन बिहार, पटना स्थित प्रांत कार्यालय पर किया गया। शोक सभा में बिहार प्रांत के क्षेत्रीय संगठन मंत्री निखिल रंजन ने कहा कि आचार्य जी के निधन के बाद साहित्यिक जगत को अपूर्णीय क्षति हुई है। उन्होंने अपने विशिष्ट रचना के माध्यम से देश और समाज को दिशा प्रदान किया है।

>> नहीं रहे साहित्य के अनमोल रत्न आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव

वहीं सीनेट सदस्य पप्पू वर्मा ने कहा कि बिहार के साहित्यिक जगत के युग पुरुष के नाते आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव सदैव याद किए जाएंगे। ऐसे युग पुरुष का निधन बिहार ही नहीं पूरे देश के लिए बहुत बड़ी क्षति है।
शोक सभा में मौजूद राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य एवं विश्वविद्यालय संगठन मंत्री गौरव प्रकाश ने कहा कि संस्कृत, हिन्दी, प्राकृत, पाली, अपभ्रंश आदि अनेक भारतीय भाषाओं के विश्रुत विद्वान, साहित्यकार तथा बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन के आदरणीय प्रधानमंत्री आचार्य श्रीरंजन सूरिदेव ने अपना पार्थिव देह का त्याग कर इस दुनिया से विदा हो गए। उनकी कृति साहित्य को नई दिशा देगी।
शोक सभा में विभाग प्रमुख अमित राज, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य श्रीराम शर्मा, दीपक कुमार, कौशल मिश्रा, मणिकांत यादव, जिला संयोजक अमित मिश्रा, विकास कुमार, अंजना सिंह, अभिषेक कुमार, अभिनव कुमार, रोहित कुमार, सत्यम कुमार, प्रांत कार्यालय मंत्री गोल्डन सा, पशुपतिनाथ मनु सहित दर्जनों कार्यकर्ता उपस्थित थे। शोक सभा के उपरांत 2 मिनट का मौन रखा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.