सूरत में शुक्रवार को भीषण आग से झुलस कर 20 छात्रों की मौत पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने कैंडल मार्च निकाल कर शोक जताया। मृतक छात्रों के प्रति गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए बीएन कॉलेज से कैंडल मार्च करते हुए कारगिल चौक तक पहुंचा। कारगिल चौक के समक्ष 2 मिनट का मौन रखा कर सभा के माध्यम से श्रद्धांजलि दिया गया। मालूम हो कि शुक्रवार को गुजरात के सूरत में चार मंजिला इमारत में चलने वाली कोचिंग संस्थान में दोपहर भीषण आग लगने की वजह से लगभग 20 छात्रों की आकस्मिक मौत हो गई थी।

श्रद्धांजलि सभा में उपस्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रांत सह कोषाध्यक्ष पप्पू वर्मा ने कहा कि यह घटना काफी दुःखद है। इस प्रकार की घटना का जितनी निंदा की जाए कम है। वहां के राज्य सरकार को इस पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कर दोषियों पर कठोर कार्रवाई की जाए और साथ ही छात्र के परिजनों को जल्द से जल्द मुआवजा दिया जाए।

बड़ी अनहोनी से सरकार को कराया अवगत

साथ ही उन्होंने कहा कि इस प्रकार की घटना से बिहार सरकार को भी इस पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है, ताकि भविष्य में ऐसी गलती कहीं भी होने की आंशका न हो। बिहार सरकार को ज्ञात होना चाहिए बिहार की राजधानी पटना में जीस प्रकार से शिक्षा का व्यवासायिककरण हो रहा है ओर मनमाने कोंचिग संस्थान चलाऐ जा रहे हैं यह एक गंभीर समस्या है। इसका वजह यह है कि बड़े-बड़े संस्थानों में एक बार में हजारों छात्रों को पढ़ाया जाता है जिसमें मात्र एक से दो दरवाजे अन्दर-बाहर के लिए होते है। साथ ही छुट्टी के समय भी घंटों सड़क जाम होने से आम जनमानस को भी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। छोटे सिढ़ियों से चढ़ने-उतरने में भी जान का डर बना रहता है, अगर कोई अनहोनी हो जाए तो बड़ी घटना को अंजाम दे सकता है।

कार्यक्रम का नेतृत्व महानगर मंत्री रजनीश सिंह ने किया। साथ ही इस श्रद्धाजंलि सभा में पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय संयोजक दीपक कुमार, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विकास चंद्र सिंह, छात्र नेता आदित्य आर्यन, प्रियरंजन सिंह, रणविजय रंजन, अभिनव पाण्डेय, शशि सिंह, अनुज मिश्रा, विकास मंडल, मनमोहन आंनद, सूरज कुमार, प्रशांत कुमार, आकाश श्रीवास्तव, संजीव, गोल्डेन साह, महानगर संगठन मंत्री पशुपतिनाथ उपमन्यु सहित दर्जनों छात्र कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.