दरभंगा, 4 मई। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् छात्र इकाई द्वारा आयोजित एम.आर.एम महाविद्यालय में “सर्जना निखार शिविर” के तीसरे दिन के प्रथम वर्ग में योग के प्रशिक्षक आर.बी.ठाकुर ने छात्राओं को योग के महत्व एवं योग करने से फायदा के बारे में बताए। उन्होंने कहा कि योग अभ्यास रोज करने से शरीर स्वस्थ रहता है।

वही द्वितीय वर्ग में “द युनिर्वस इंग्लिश क्लासेज के निर्देशक विजय कुमार ने छात्राओं को शब्दकोश   का निर्माण करना व ब्रिटिश और अमेरिकन अंग्रेजी में अंतर को समझाया। अंग्रेजी के महत्व दैनिक जीवन में बहुत महत्वपूर्ण हो गया है । अंग्रेजी के बेसिक ज्ञान सिखे छोटे छोटे वर्ड छोटे छोटे सेंटेंस को सबसे पहले लिखना पढ़ना और बोलना सिखाऐ किसी भी भाषा को पढ़ने लिखने और बोलने के लिए उच्चारण शुद्ध शुद्ध करना बहुत अनिवार्य हैं।

वही मिथिला पेंटिंग के प्रशिक्षक भगवान ठाकुर ने छात्राओं को मिथिला पेंटिंग के इतिहास को समझाया पेंटिंग में आज कटनी भरने बताया गया । और कितने प्रकार के होते है वे भी बताया गया साथ में किनारी सिखाया गया।

वही कुकिंग के प्रशिक्षिका प्रियंका अग्रवाल ने कुकिंग के बारे में छात्राओं को पाक कला क्या है। समझाया गया पाक कला में आज ढोकला बनाने की विधि समझाएं गई एवं बच्चों की पसंद से कुरकुरे भेल समझाया गया।

वही विद्यार्थी परिषद के केंद्रीय कार्यसमिति सदस्य प्रियदर्शनी सिंह, कार्यक्रम संयोजक मधुमाला कुमारी, वर्ग संचालन प्रमुख रिचा कुमारी, व्यवस्था प्रमुख शालिनी कुमारी, कार्यकारिणी सदस्य निशा कुमारी, अनामिका कुमारी,  मोनिका कुमारी, वैष्णवी कुमारी, इत्यादि कार्यकर्ता उपस्थित थे।

दरभंगा, 4 मई। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छात्र इकाई द्वारा आयोजित एम.आर.एम महाविद्यालय में “सर्जना निखार शिविर” के तीसरे दिन के प्रथम वर्ग में योग के प्रशिक्षक आर.बी.ठाकुर ने छात्राओं को योग के महत्व एवं योग करने से फायदा के बारे में बताए। उन्होंने कहा कि योग अभ्यास रोज करने से शरीर स्वस्थ रहता है।

वही द्वितीय वर्ग में “द युनिर्वस इंग्लिश क्लासेज के निर्देशक विजय कुमार ने छात्राओं को शब्दकोश   का निर्माण करना व ब्रिटिश और अमेरिकन अंग्रेजी में अंतर को समझाया। अंग्रेजी के महत्व दैनिक जीवन में बहुत महत्वपूर्ण हो गया है । अंग्रेजी के बेसिक ज्ञान सिखे छोटे छोटे वर्ड छोटे छोटे सेंटेंस को सबसे पहले लिखना पढ़ना और बोलना सिखाऐ किसी भी भाषा को पढ़ने लिखने और बोलने के लिए उच्चारण शुद्ध शुद्ध करना बहुत अनिवार्य हैं।

वही मिथिला पेंटिंग के प्रशिक्षक भगवान ठाकुर ने छात्राओं को मिथिला पेंटिंग के इतिहास को समझाया पेंटिंग में आज कटनी भरने बताया गया । और कितने प्रकार के होते है वे भी बताया गया साथ में किनारी सिखाया गया।

वही कुकिंग के प्रशिक्षिका प्रियंका अग्रवाल ने कुकिंग के बारे में छात्राओं को पाक कला क्या है। समझाया गया पाक कला में आज ढोकला बनाने की विधि समझाएं गई एवं बच्चों की पसंद से कुरकुरे भेल समझाया गया।

वही विद्यार्थी परिषद् के केंद्रीय कार्यसमिति सदस्य प्रियदर्शनी सिंह, कार्यक्रम संयोजक मधुमाला कुमारी, वर्ग संचालन प्रमुख रिचा कुमारी, व्यवस्था प्रमुख शालिनी कुमारी, कार्यकारिणी सदस्य निशा कुमारी, अनामिका कुमारी,  मोनिका कुमारी, वैष्णवी कुमारी सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.