नवीन सिंह परमार/सीवान
सीवान ( 21 नवम्बर) अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् ( अभाविप ) का एक दिवसीय विशाल छात्र रैली कोलकाता में आयोजित होगा। इस रैली का मुख्य मुद्दा बांग्लादेशी घुसपैठ हैं । वर्षों से पूर्वोत्तर भारत असम, बंगाल, बिहार और झारखंड के लिए घुसपैठ एक गंभीर चुनौती बन गया है।
ये बाते अभाविप के सीवान विभाग संयोजक मनोज कुमार ने बुधवार को एक प्रेस वार्ता के दौरान कही। उन्होंने कहा कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिकता पंजी) बनाया जा रहा है। लेकिन बंगाल में तुष्टीकरण की राजनीति के तहत बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एनआरसी का विरोध किया जो दुर्भाग्यपूर्ण है। अपनी वोट बैंक के लिए देश की बलि देने वाली ममता बनर्जी को सबक सिखाने के लिए बिहार से लगभग पांच हजार कार्यकर्त्ता कोलकाता जा रहे है।
प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए अभाविप की प्रदेश सह मंत्री लक्ष्मीरानी ने कहा कि अभाविप के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सबसे प्रमुख मुद्दा रहा है। बंगाल में ममता सरकार के राष्ट्र विरोधी रवैये को देखते हुए कोलकाता में लगभग पचास हजार अभाविप के छात्र कार्यकर्ता शामिल होंगे।
उन्होंने बताया कि इस रैली का सबसे प्रमुख मुद्दा राष्ट्रीय सुरक्षा होगा। बांग्लादेशी घुसपैठ वर्षों से पूर्वोत्तर भारत असम, बंगाल, बिहार और झारखंड के लिए एक गंभीर चुनौती है। बिहार के सीमावर्ती चार जिले पूर्णिया, किशनगंज, अररिया और कटिहार में बांग्लादेशी अवैध घुसपैठिए की संख्या बढ़ रही है जो गैरकानूनी है। रैली के माध्यम से एनआरसी को पुरे देश में लागू करने की मांग भी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.