वेतनमान एवं सेवा शर्त सहित अपनी 13 सूत्री मांगों को लेकर नियोजित शिक्षक गर्दनीबाग स्थित धरना स्थल पर गुरुवार को एकजुट हुए. बिहार सरकार से अपनी मांगों को लेकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों पर पुलिस ने हिंसा का रुख अपनाया और शिक्षकों पर लाठीचार्ज किया. धारना के दौरान महिला शिक्षकों पर भी लाठीचार्ज किया गया. धारना का आयोजन बिहार प्रदेश प्रारम्भिक माध्यमिक शिक्षक संघ द्वारा किया गया था जिसे विभिन्न संगठनों का नैतिक समर्थन प्राप्त था.

majdur sangh 02

प्रारंभिक माध्यमिक शिक्षक संघ के अघ्यक्ष राकेश भारती ने कहा कि नियोजित शिक्षकों की सभी मांगों को सरकार पूरा करे अगर बिहार सरकार शिक्षकों के मांगों को अनदेखा करती है तो प्रारंभिक माध्यमिक शिक्षक संघ आन्दोलन करने के लिए तैयार रहेगा.

वही महामंत्री अश्विनी कुमार पाठक ने कहा कि जब तक समान काम समान वेतन नहीं मिलेगा तब-तक आंदोलन जारी रहेगा.

बिहार पुलिस की हिंसात्मक कार्यवाही पर भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश अध्यक्ष सियाराम शर्मा ने कड़े शब्दों में निंदा की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.