सीवान (विसंके)। कोरोना काल में आर्थिक रूप से परेशान हुए कलाकारों के सहायता के लिए कला व संस्कृति को समर्पित अखिल भारतीय संगठन “संस्कार भारती” द्वारा शुरू किए गए परियोजना “पीर पराई जाने रे” के अंतर्गत उत्तर बिहार प्रांत के 25 कलाकारों को ऑनलाइन आर्थिक सहयोग दिया गया।

सीवान में रविवार को देर संध्या एक समारोह आयोजित कर उत्तर बिहार प्रांत के चुने हुए 25 कलाकारों को उनके बैंक खाते में ऑनलाइन धन राशि को स्थांतरित किया गया। समारोह का उद्घाटन संस्कार भारती सीवान इकाई अध्यक्ष वृजमोन प्रसाद, संयोजक अश्विनी कुमार श्रीवास्तव व जादुगर विजय ने सामुहिक रुप से भगवान श्रीगणेश को साक्षी मानते हुये कला के आरध्य नटराज के चित्र के समक्ष मंगल दीप प्रज्वलित कर के किया।

इस मौके पर प्रांत महामंत्री संगठन जादुगर विजय बताया कि कोरोना अपदा में वे कलाकार जो  जीवन यापन के लिये कला को अपना माध्यम बनाये हुए थें, उन्हें भारी क्षति का सामना करना पड़ा है। इस बात को ध्यान में रख कर  संस्कार भारती से  जुडे कला मनिषियों ने अखिल भारतीय स्तर पर “पीर पराई जाणे रे -“नामक आयोजन कर उससे प्राप्त धन राशि को देश भर में चयनित कलाकारों में वितरण किया गया।

sanskar bharti siwan

उन्होंने बताया कि उत्तर बिहार के मुज्जफरपुर जिले से 07, वैशाली जिले से 1,छपरा जिले से 03,सीवान जिले से 14 स्थापित कलाकार बन्धुयों का चयन कर के उन्हें ऑनलाइन आर्थिक सहयोग प्रदान किया गया।

इस अवसर पर “कोरोना काल में कलाकारों के समक्ष चुनौतियां एवं समाधान” विषय पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी में  कमल किशोर गुप्ता, रजनीश मोर्य, श्रैया कुमारी श्रीवास्तव, संगीत से पंकज कुमार पाठक, चन्द्रमा चन्द्राही, मोहम्मद रीजवान अहम्मद,कृष्णा जी भक्त, जे.पी.श्रीवास्तव,विजय शंकर पाण्डेय,रोहणी सोनी,केशव ठाकुर,अशोक कुमार खरवार,संतोष चौधरी, निभा पाण्डेय आदि कलाकारों ने ऑनलाइन और ऑफलाइन रूप से अपना विचार व्यक्त किया।

इस मौके पर सुनील कुमार, लव कुमार साहु, ओम बजाज, कन्हैया, भगवान दास, मनीष कुमार वर्मा, धीरज कुमार श्रीवास्तव आदि प्रमुख कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.