पटना:- आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के 69वें स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्, पटना महानगर द्वारा प्रातः प्रान्त कार्यालय में ध्वजारोहण के पश्चात पटना स्थित सभी महाविद्यालयों में 125 पौधों का पौधा रोपण किया गया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् अपना स्थापना दिवस राष्ट्रीय छात्र दिवस के रूप में मनाते आ रही है। प्रान्त कार्यालय में ‘नूतन-पुरातन कार्यकर्ता मिलन समारोह’ आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक श्री रामदत्त चक्रधर ने कहा कि छात्रशक्ति में भारतीय संस्कृति पिरोकर विद्यार्थी परिषद् इसे राष्ट्रशक्ति के रूप में आदिकाल से ही प्रतिस्थापित कर रहा है। अपने विभिन्न प्रकल्पों के माध्यम से विद्यार्थी परिषद् सम्पूर्ण देशवासियों में राष्ट्रीय एकात्मता का भाव संचारित करता आ रहा है।

सभा को संवोधित करते श्री सुशिल मोदी
सभा को संवोधित करते श्री श्री सुशील कुमार मोदी

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विद्यार्थी परिषद् के पूर्व राष्ट्रीय महामंत्री एवं बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री श्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि परिषद् कार्य छोड़े 30 साल हो गये, लेकिन अभी भी महसूस होता है कि मैं परिषद् में ही हूँ। नित्य ही परिषद् के कार्यकर्ता बन्धुओं से आदर और प्रेम मिलता है। आज परिषद् के कार्यकर्ता संघ सहित समाज के कई आयामों ने अपनी सेवा दे रहे है। यह परिषद् की वर्तमान में व्यापकता है। साम्यवाद के समाप्ति में विद्यार्थी परिषद् ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। आज यह संगठन बेरोजगारी, अशिक्षा और महंगाई जैसे बड़े मुद्दों से युवाओं को लड़ना सिखाया है। संगठन से देश को काफी अपेक्षाएँ हैं।

पुरातन व नूतन कार्यकर्ता उपस्थित
पुरातन व नूतन कार्यकर्ता उपस्थित

समारोह को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय संगठन मंत्री श्री निखिल रंजन ने कहा कि परिषद् आज करोड़ों लोगों के बीच में सामाजिक संवेदना का भाव जगाकर उन्हें राष्ट्र सेवा हेतु तत्पर व जागरूक करने का कार्य किया है। आज संगठन का स्वरूप काफी व्यापक हो चुका है, जहाँ एक तरफ आज छात्र इस कार्यक्रम हेतु वृक्षारोपण कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर सरकार की दमनकारी नीति के अभिशप्त अपने कार्यकर्ता जेलों में भी बन्द हैं। विभिन्न प्रकल्पों के साथ वैश्विक स्तर पर आज कार्यरत इस संगठन में कई नूतन-पुरातन कार्यकर्तागण का बहुमूल्य योगदान रहा है।

सभा को संबोधित करते हुए पूर्व क्षेत्रीय संगठन मंत्री ने कहा 9 जुलाई 1949 को विधिवत रूप से विद्यार्थी परिषद् का कार्य व्यक्तित्व पुनर्निर्माण के व्यापक लक्ष्य को ध्यान में रखकर भारत को विश्वगुरु बनाने हेतु संगठन में लाखों युवा अपनी सेवा दे रहे हैं। संगठन विभिन्न आयामों के माध्यम से वैश्विक स्तर पर कार्य कर रहा है। विद्यार्थी परिषद् के कई नौजवान समाज के वंचित वर्ग की दुर्दशा देखकर उनके हितों के लिए कार्य करने का संकल्प लिया।
प्रांत संगठन मंत्री श्री अनिल कुमार ने संगठन के मौजूदा कार्यप्रणाली पर व्यापक प्रकाश डालते हुए कहा कि आज संगठन देश के सुदूर क्षेत्रों में भी कार्य कर रहा है। विभिन्न विश्वविद्यालयों के छात्रसंघ चुनाव में अभाविप को समर्थन मिलना इसकी व्यापकता की उपलब्धि को प्रमाणित करता है। कार्यक्रम को महानगर अध्यक्ष प्राध्यापक एन॰के॰ झा ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन पटना वि॰वि॰ ​सिनेट सदस्य पप्पू वर्मा तथा धन्यवाद ज्ञापन महानगर सह मंत्री विकास चन्द्र सिंह ने किया।
इस अवसर पर विधायक संजीव चैरसिया, अरुण कुमार सिन्हा, विधान पार्षद डाॅ॰ सूरजनन्दन कुशवाहा, आशीष सिन्हा, हिमांशु यादव, राधा रत्न प्रभा, पटना वि॰वि॰ प्रमुख विजय प्रताप, नगर मंत्री दिव्यांशु भारद्वाज, विभाग संयोजक विक्की राय, जिला संयोजक राहुल कुमार, विवेकानन्द, कुणाल सिंह, अनुज कुमार, राहुल मोदी, आलोक तिवारी, छात्रा प्रमुख रंजु कुमारी, गौरव रंजन सहित सैकड़ों नूतन-पुरातन कार्यकर्ता शामिल थे।

 

By nwoow

Leave a Reply

Your email address will not be published.